प्रदर्शन: राजभवन पहुंचने से पहले विधान भवन से हिरासत में लिए गए कांग्रेस नेता, मोर्चा निकालने की थी तैयारी 

August 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले की अगुआई में बड़ी संख्या में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल भगतसिंग कोश्यारी के सरकारी आवास राजभवन पर जाकर मंहगाई और बेरोजगारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें विधानभवन के पास ही रोक दिया। इस दौरान पुलिस ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पटोले सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं को हिरासत में भी लिया जिन्हें बाद में आजाद मैदान पुलिस स्टेशन ले जाकर कानूनी औपचारिकताओं के बाद रिहा कर दिया गया। 

पुलिस ने पहले ही राजभवन जाकर विरोध करने का ऐलान कर चुके नेताओं को ऐसा न करने के लिए नोटिस दिया था। शुक्रवार की सुबह विधानभवन परिसर में बड़ी संख्या में पहुंचे कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने आगे बढ़ने से रोक दिया। पटोले ने कहा कि हम भाजपा की अगुआई वाली केंद्र सरकार के विरोध में राजभवन जाकर विरोध प्रदर्शन करना चाहते थे। आम लोग बेरोजगारी और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के चलते बेहद परेशान हैं। लेकिन पुलिस दवाब में है इसलिए हमें विरोध प्रदर्शन नहीं करने दे रही है। विरोध प्रदर्शन करने पहुंचे नेताओं में बालासाहेब थोरात, अशोक चव्हाण, मोहन जोशी, नसीम खान, चंद्रकांत हंडोरे और वर्षा गायकवाड शामिल थे। थोरात ने कहा कि हमें विरोध करने का अधिकार है। आजादी के पहले भी हमें विरोध प्रदर्शन करने का अधिकार था। लेकिन मौजूदा सरकार हमें दबाने की कोशिश कर रही है। इससे हमारा आंदोलन और तेज होगा। हालात संभालने के लिए स्थानीय पुलिस उपायुक्त हरि बालाजी भी मौके पर मौजूद थे। पुलिस ने राजभवन के पास कांग्रेस पार्टी द्वारा लगाया गया बैनर उतार दिया साथ ही राजभवन की ओर जाने वाली गाड़ियों को भी आगे बढ़ने की इजाजत नहीं दी।