महाराष्ट्र-कर्नाटक विवाद: दोनों राज्यों के बीच विवाद को राजनीतिक मान रहा है केन्द्र- वेट एंड वाच की भूमिका

November 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच का सीमा विवाद एक बार फिर सुर्खियों में है। दोनों राज्य सरकारें अब सांगली जिले के 40 गांवों को लेकर आपस में भिड़ गए हैं तो वहीं केन्द्र सरकार इस पूरे मामले में ‘वेट एंड वाच’ की भूमिका में है। हालांकि केन्द्रीय गृह मंत्रालय ताजा विवाद पर नजर बनाए हुए है, लेकिन अपनी तरफ कोई पहल करने के मूड में नहीं है। गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र-कर्नाटक विवाद को लेकर दोनों राज्यों में से किसी ने भी केन्द्र को लिखित शिकायत नहीं भेजी है। ऐसे में केन्द्र सरकार का इस मामले में हस्तक्षेप करने का कोई मतलब नहीं है। केन्द्र दोनों राज्यों के बीच के विवाद को राजनीतिक मान रहा है। केन्द्र सरकार इस मामले में इसलिए भी उदासीन है, क्योंकि महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों ही राज्यों में भाजपा की सरकार है। ऐसे में वह इसमें दखल देने के मूड में नहीं है। बता दें कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने महाराष्ट्र के सांगली जिले के 40 गांवों पर अपना दावा ठोंका है तो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने दो टूक कहा कि एक भी गांव महाराष्ट्र से बाहर नहीं जाने देंगे।