comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मुंबई : 12 साल की अगवा बच्ची बरामद, एक मामले में नाईजीरियन्स ने दर्जनों गाडियों में की तोड़फोड़

मुंबई : 12 साल की अगवा बच्ची बरामद, एक मामले में नाईजीरियन्स ने दर्जनों गाडियों में की तोड़फोड़

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अगवा की गई एक 12 साल की मानसिक रुप से कमजोर बच्ची पुलिस की सक्रियता के चलते कुछ ही घंटों में फिर से अभिभावकों को मिल गई। बच्ची के माता पिता ने मंगलवार देर रात उसकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस तुरंत हरकत में आई और शहर भर में लगे सीसीटीवी की मदद से आरोपी की पहचान कर ली। मामले की सूचना सभी पुलिस स्टेशनों में दे दी गई जिसके बाद बच्ची गोरेगांव इलाके में मिल गई। आरोपी पुलिस से बचकर भागने में कामयाब हो गया। अगवा की गई बच्ची सायन कोलीवाडा इलाके में अपने माता-पिता से साथ फुटपाथ पर रहती है। मंगलवार देर रात बच्ची के माता-पिता ने बच्ची को नहीं देखा तो एंटाप हिल पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत की। पुलिस ने तुरंत इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की तो एक आरोपी बच्ची के साथ दिखा। बच्ची के माता पिता ने आरोपी की पहचान सूरज धानसिंह के रुप में हुई जो परिवार के पड़ोस में ही रहता है। इसके बाद पुलिस ने फौरन आरोपी द्वारा बच्ची को अगवा किए जाने की सूचना तस्वीर के साथ सभी पुलिस स्टेशनों को दे दी। इसी दौरान गोरेगांव इलाके में पुलिस की नजर आरोपी पर पड़ी तो वह बच्ची को छोड़कर भाग खड़ा हुआ। 


साथी की मौत के बाद नाईजीरियन नागरिकों ने दर्जनों गाडियों में की तोड़फोड़

उधर पालघर जिले के नालासोपारा इलाके में बुधवार को एक 31 वर्षीय नाइजीरियाई व्यक्ति की संदिग्ध मौत हो गई। लेकिन इसे हत्या का मामला मानते हुए प्रगति नगर इलाके में रहने वाले नाइजीरियाई लोगों ने उत्पात मचा दिया और इलाके में खड़ी की गईं दर्जनों गाड़ियां तोड़ डाली। इससे नाराज स्थानीय लोगों ने उस इमारत का रास्ता बंद कर दिया जहां नाइजीरियाई रहते हैं। फिलहाल पुलिस ने हालात पर काबू पा लिया है और मामले की छानबीन में जुट गई है। जिस नाइजीरियाई व्यक्ति की मौत हुई है उसका नाम जोसेफ बताया जा रहा है। रात साढ़े तीन बजे के करीब जोसेफ को जख्मी हालत में अस्पताल ले जाया गया। लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इससे नाराज प्रगतिनगर में रहने वाले नाइजीरियाई लोगों ने पार्किंग में खड़ी कारों, ऑटोरिक्शा, टेंपो, ट्रक जैसे वाहनों को तोड़ना शुरू कर दिया। इससे नाराज स्थानीय लोगों ने उस इमारत को घेर लिया जहां नाइजीरियाई रहते थे। लोगों ने उन्हें धमकी दी कि अगर घर से बाहर निकले तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। पालघर पुलिस के प्रवक्ता हेमंत काटकर ने बताया कि उस व्यक्ति की मौत कैसे हुई यह साफ नहीं है। फिलहाल एडीआर दर्ज किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। इलाके में हालात सामान्य हैं।   


 

कमेंट करें
6hSPi