दैनिक भास्कर हिंदी: चुनाव के दौरान मरने वाले शिक्षकों के परिजन को मिली 15-15 लाख की मदद

May 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लोकसभा चुनाव के दौरान सड़क दुर्घटना में मृत शिक्षकों के परिजन को जिलाधीश अश्विन मुद्गल के हाथों 15-15 लाख के धनादेश दिए गए। सरकार की तरफ से पीड़ित परिवारों को अनुदान के तौर पर यह राशि जारी की गई थी। रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव ड्यूटी से लौटते समय उमरेड रोड पर चांपा शिवार में हुई सड़क दुर्घटना में शिक्षक नुकेश नारायण मेंढुले (38) व पुंडलिक बापूराव बाहे (56) की मौत हो गई थी। जिला प्रशासन ने मृतकों के वारिसों को 15-15 लाख के सानुग्रह अनुदान का प्रस्ताव राज्य चुनाव आयोग को भेजा था। चुनाव आयोग ने इसे स्वीकार करते हुए राज्य सरकार को यह प्रस्ताव भेजा था। जिलाधीश अश्विन मुद्गल ने नुकेश मेंढुले की पत्नी योगिता मेंढुले को व अतिरिक्त जिलाधीश श्रीकांत फडके ने पुंडलिक बाहे की पत्नी माधुरी बाहे को चेक दिया। इस दौरान उपजिला निर्वाचन अधिकारी राजलक्ष्मी शहा, उपविभागीय अधिकारी जे. पी. लोंढे उपस्थित थे। 

जख्मी शिक्षकों को अब तक मदद नहीं 

सड़क दुर्घटना में दो शिक्षक मृत होने के साथ ही दो शिक्षक गंभीररूप से घायल हो गए थे। इलाज पर इन शिक्षकों का लाखों रुपए खर्च हो गया, लेकिन इन्हें अब तक शासन-प्रशासन से फूटी कौड़ी की मदद नहीं मिली। कर्मचारी कास्ट्राइब महासंघ व शिक्षक भारती संगठन ने घायल शिक्षकों को चिकित्सकीय खर्च देने की मांग जिला प्रशासन से की है। इससंबंध में शिक्षक भारती संगठन के पदाधिकारियों ने जिला प्रशासन को निवेदन भी दिया है।

खबरें और भी हैं...