दैनिक भास्कर हिंदी: 9 कार्टून कफ सीरप के साथ 20 किलो गांजा व नशीली दवाइयां जब्त, 6 गिरफ्तार 

June 20th, 2020

डिजिटल डेस्क शहडोल । नशे के कारोबार पर जिला पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। इसके साथ ही इस धंधे के नेटवर्क का भी पर्दाफाश किया है। पुलिस ने पिछले दो दिनों में नौ कार्टून नशीली टफरेक्स सीरप, 20 किलो गांजा, दो पैकेट नशीली दवाइयां जब्त करते हुए जिले में दो महिला सहित महिला सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं इस पूरे कारोबार के सूत्रधार जबलपुर निवासी अंकुश यादव की तलाश की जा रही है। इसके लिए पुलिस की एक टीम जबलपुर पहुंच चुकी है। 
पुलिस कंट्रोल रूम में शुक्रवार को पूरे मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने बताया कि जिले में नशे का कारोबार तेजी से फैल रहा है। इसकी शिकायत लगातार मिल रही थी। इस बीच हमने अपना मुखबिर तंत्र विकसित करते हुए कुछ लोगोंं को चिन्हित किया था। इसके लिए इस पूरे नेटवर्क का पता लगाना जरूरी था। हमको यह जानकारी मिली थी कि जबलपुर से ट्रांसपोर्ट के माध्यम से माल आता है और कुछ लोगों को बेचा जाता है। इसी के आधार पर घेराबंदी करते हुए  आरोपियों की धरपकड़ की गई है। जांच में एक और बात सामने आई है कि यह सीरप अनिल मेडिकल स्टोर के नाम से बुक किया गया था, जो है ही नहीं। प्रेस वार्ता के दौरान एडिशनल एसपी प्रतिमा एस. मैथ्यू भी मौजूद थीं। 
ट्रांसपोर्टर सहित तीन जगह दी पुलिस ने दबिश 
एसपी ने बताया कि सूचना मिली थी कि नगर के महावीर ट्रांसपोर्ट में छह कार्टून टफरेक्स सीरप उतरा है। पुलिस ने दबिश देकर वहां से तीन कार्टून सीरप जब्त किए। पूछताछ में ट्रांसपोर्टर ने बताया कि दो कार्टून पुरानी बस्ती निवासी अनीश शाह को और एक कार्टून ईरानी बाग निवासी शिशिर सिंह परिहार को डिस्पैच किया गया है। तीन कार्टून माल असद खान का बचा हुआ है। पुलिस ने अनीश शाह के घर पर दबिश देते हुए दो कार्टून में कुल 240 नगर सीरप और शिशिर सिंह के घर से बोरी में कुल 120 नग टफरेक्स सीरप बरामद किया गया। पुलिस ने अवैध रूप से नशीली दवाओं का संधारण एवं अवैध विक्रय करने के आरोप में संदीप जैन, अनीश शाह, शिशिर सिंह परिहार, असद खान एवं अंकुश यादव के विरुद्ध मप्र औषधि नियंत्रण अधिनियम 1949 की धारा 5/13 व एनडीपीएस अधिनियम की धारा 8, 21, 22 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। संदीप जैन ने पूछताछ में जबलपुर के अंकुश यादव द्वारा नशीली दवाएं भेजने की जानकारी दी है। अंकुश यादव की सघनता से खोजबीन की जा रही है। 
घर से मिला गांजा और सीरप 
एसपी ने बताया कि कार्रवाई के दौरान ही कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि मोदी नगर निवासी असद खान के घर पर काफी मात्रा में मादक पदार्थ गांजा एवं नशीली दवाइयां छिपाकर रखी हैं। कोतवाली पुलिस की दूसरी टीम ने असद खान के घर पर दबिश दी। पहले तो असद खान और उसकी पत्नी से इससे इनकार किया, लेकिन जब कड़ाई से पूछताछ की गई और घर की तलाशी ली गई तो घर से 22 किलो गांजा कीमत करीब एक लाख 10 हजार रुपए और तीन कार्टून 360 बोतल कफ सीरप बरामद किया गया। पुलिस ने असद खान और उसकी पत्नी ज्योति शुक्ला उर्फ अफसरी बेगम को गिरफ्तार किया है। दोनों पर एनडीपीएस एक्ट की धारा 8, 20 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। 
धनपुरी में भी कार्रवाई 
पुलिस को धनपुरी के कच्छी मोहल्ला निवासी मखतून बी उर्फ खैरहा वाली के यहां नशीली दवाइयां होने की सूचना भी मिली थी। सूचना पुख्ता होने पर पुलिस ने महिला पुलिसकर्मी की अगुवाई में महिला के घर की तलाशी ली। पलंग के नीचे हरे रंग की बोरी में 80 बॉटल टफरेक्स सीरप और दो पैकेट कुल 1600 अल्प्राजोलम टेबलेट आईपी जब्त की गई। पूछताछ में महिला ने यह दवाइयां शहडोल निवासी असद अली से लेना स्वीकार किया। मखबून बी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8बी, 21, 22 एवं मप्र ड्रग कंट्रोल एक्ट की धारा 5/13 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।   
गुटखा भरा ट्रक पकड़ा
पुलिस अधीक्ष पे्रस वार्ता के दौरान बताया कि पुलिस ने गुरुवार शाम को बगिया तिराहे के पास से एक ट्रक भी पकड़ा है, जिसमें राजश्री गुटखा लोड था। ट्रक में 250 पेटी राजश्री है, जिसकी कीमत करीब 23 लाख रुपए है। एसपी का कहना है कि ट्रक को कोतवाली थाने में खड़ा कराया गया है और पकड़े गए माल से संबंधित कागजों की पड़ताल की जा रही है।