दैनिक भास्कर हिंदी: कपड़ा कारोबारी से 50 लाख की ठगी करने वाले तमिलनाडु के तीन आरोपी धराए

February 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। तहसील थानांतर्गत गांधीबाग होलसेल मार्केट में कपड़ा कारोबारी को 48.19 लाख रुपए का चूना लगा है। तहसील थाने में आरोपी रामसिंह मंगलसिंह सोडा (35) गांजाखेत नागपुर , मोहना सुंदरम टी उर्फ  बाबू (32), रविशंकर एम. सेलम और राजकुट्टी मुरली (40) सेलम तमिलनाडु निवासी के खिलाफ  धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार,  महालक्ष्मी अपार्टमेंट जरीपटका निवासी दिनेश दीवानचंद आहूजा (37) का तहसील क्षेत्र में कृष्णा एन. एक्स नाम से देवधर मोहल्ला बाजीराव गली में रेडीमेड सलवार-सूट की होलसेल दुकान है। रामसिंह मंगलसिंह सोडा मूलत: राजस्थान, बीकानेर निवासी है। उसकी गांजाखेत में माजिशी एजेंसी है। उसने मोहना सुंदरम टी उर्फ बाबू कल्लाप,  रविशंकर एम शन्मोगम  अंबर मुरूगन मुथुर व  राजकुट्टी मुरली  हरिहरण  सभी तमिलनाडु निवासी के साथ मिलकर साजिश रची। आरोपियों की कोई कंपनी नहीं थी। इसके बाद भी वे नकली कंपनी के नाम से विजिटिंग कार्ड बनाकर दिनेश की दुकान में पहुंचे। दिनेश का विश्वास जीतकर रेडीमेड सलवार-सूट का  माल उधारी पर खरीद लिया और बेचकर पैसे देने का लालच दिया। दिनेश को लगा कि लाखों रुपए का माल लेने वाले व्यापारी माल बेचते ही उसे सारी रकम वापस कर देंगे। आरोपियों ने माल खरीदने के बाद दूसरे व्यापारियों को कम दाम पर बेच दिया और पैसे रख लिए। इधर, दिनेश आहूजा को जब उधारी का बिल नहीं मिला तो वह परेशान हो गया। उसने उन आरोपियों के बारे में मार्केट में पता लगाया तो पोल खुली। दिनेश आहूजा ने उनके खिलाफ तहसील थाने में मामला दर्ज कराया। थाने के उपनिरीक्षक ए.जे. चव्हाण ने आरोपियों के खिलाफ धारा  406, 468, 420,120(ब), 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 

ब्रायलर फार्म के मालिक से मांगा 20 लाख हफ्ता

उधर हुडकेश्वर थानांतर्गत बेसा पावर हाउस के पास एक ब्रायलर फार्म के मालिक से आरोपियों ने 20 लाख रुपए का हफ्ता मांगा। पैसे नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी।  आरोपियों में दानिश हाजी, अशफाक व अन्य 4 साथी शामिल हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, शांतिनगर निवासी मोहम्मद निसार भाटी का प्लाॅट नं 68, बेसा पाॅवर हाउस के पास ताज ब्रायलर फार्म है। गत दिनों भाटी दुकान में बैठा था। इस दौरान उक्त आरोपी उसके पास आए। दानिश हाजी ने उससे कहा कि तू हमारा फोन क्यों नहीं उठाता। इस बात को लेकर बहस होने लगी। आरोपियों ने भाटी से हफ्ता मांगा। दानिश हाजी ने उससे असभ्य तरीके से बातचीत करते हुए जान से मारने की धमकी दी। आरोपियों के चले जाने के बाद पीड़ित भाटी की शिकायत पर हुडकेश्वर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 385, 387,143,147,149, 294, 506(ब) के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

नामी कंपनी के नाम पर नकली गुलाब जामुन पाउडर बेचने वाला पकड़ाया

पुणे के मशहूर चितले गुलाब जामुन पाउडर के नाम पर नागपुर में नकली चितले गुलाब जामुन पाउडर  बेचने वाले एक आरोपी दुकानदार के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया गया है। चितले पाउडर  कंपनी के प्रबंधक अमोल चवरे की शिकायत पर लकड़गंज थाने में आरोपी कैलास राखेजा के खिलाफ यह मामला दर्ज किया गया है। आरोपी की कलमना स्थित चिखली में किराना दुकान है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, वसंतनगर, जूना बाबुलखेड़ा निवासी अमोल चवरे ने आरोपी कैलाश राखेजा के खिलाफ  धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि हमारी कंपनी के नाम पर नागपुर में नकली चितले पाउडर बेचे जाने की जानकारी मिली थी। मैंने कंपनी के मालिकों को सूचना दी। पता चला कि कलमना में कैलास राखेजा अपनी किराना दुकान में नकली पाउडर  बेचता है। उसके खिलाफ अपराध शाखा पुलिस विभाग के पास सबसे पहले शिकायत की। पुलिस ने खोजबीन शुरू की। राखेजा की दुकान पर अपराध शाखा पुलिस विभाग की टीम 1 फरवरी 2019 को चिखले ले-आउट कलमना पहुंची। राखेजा की वाहे गुरु ट्रेडर्स में चितले गुलाब जामुन पाउडर  के पैकेट मिले। यह पैकेट चितले पाउडर  कंपनी के नाम पर इस्टंट गुलाब जामुन पैकेजिंग के बॉक्स में तैयार कर रिटेलर को बेचा जा रहा था। पुलिस ने आरोपी को धर-दबोचा। उसे अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे सोमवार तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इस मामले की जांच अपराध शाखा पुलिस विभाग की यूनिट 3 के पुलिस निरीक्षक राजपूत के मार्गदर्शन में एपीआई ज्ञानेश्वर भेदोडकर कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, अपराध शाखा पुलिस विभाग अब इस बात का पता लगा रही है कि चितले पाउडर  के नाम से माल कहां बनता है और उसकी पैकेजिंग कहां पर होती है। अभी तक पुलिस को यह बात पता नहीं चल पाई है। चितले कंपनी के प्रबंधक चवरे को करीब 20 दिन पहले यह पता चला था कि उनकी कंपनी के नाम पर नकली चितले पाउडर की बिक्री कलमना क्षेत्र में की जा रही है।