comScore

जरा सी बरसात में गिर गए नगर निगम की दुकानों के 3 छज्जे

जरा सी बरसात में गिर गए नगर निगम की दुकानों के 3 छज्जे

डिजिटल डेस्क सतना। बस स्टैंड क्षेत्र में तकरीबन 28 साल पहले बनाई गईं नगर निगम की 300 दुकानें अब जहां ओवर एज होकर जर्जर हो चुकी हैं, वहीं तीन दशक के लंबे अर्से के बाद भी कभी इन दुकानों का मेंटीनेंस नहीं कराया गया है। ये दीगर बात है कि इन दुकानों से नगर निगम को किराए के मद में हर साल लगभग 90 लाख रुपए की कमाई होती है। आधा दर्जन ब्लाक में बंटी दुकानों का कभी संधारण नहीं होने से इनके छज्जे एक-एक कर धराशायी हो रहे हैं। सोमवार को बारिश के बीच सी ब्लॉक की 3 और दुकानों के छज्जे टपक गए। गनीमत थी बरसात के कारण कोई हताहत नहीं हुआ।
 15दिन में दूसरी घटना 
 उल्लेखनीय है, बस स्टैंड में 15 दिन के अंदर नगर निगम की जर्जर दुकानों के छज्जे गिरने की ये दूसरी घटना है। इससे पूर्व 14जून की बारिश में इन्हीं दुकानों के कई छज्जे गिरने से इलाके में हड़कंप मच गया था। कोई हताहत तो नहीं हुआ था मगर छज्जों के नीचे खड़े एक दर्जन से भी ज्यादा टू व्हीलर पूरी तरह से चकनाचूर हो गए थे। सोमवार को भी एक -एक कर तीन छज्जे गिरे। जिसके कारण दुकानदारों के काउंटर ध्वस्त हो गए।
 सैलून समेत कई दुकानों में घुटनों तक पानी 
 इसी बीच बस स्टैंड क्षेत्र में ही एक सैलून समेत कई दुकानों में बारिश का पानी घुटनों तक भर गया। उल्लेखनीय है, लगभग 5 माह पहले नगर निगम के अतिक्रमण विरोधी दस्ते ने बेजा निर्माण  के विरुद्ध मुहिम चलाते हुए भारी तोडफ़ोड़ मचाई थी। इसी तोडफ़ोड़ का मलबा नगर निगम का अमला इन्हीं दुकानों की बगल से बहने वाले नाले पर भर आया था। बारिश में नाले के बैक वाटर को जब जगह नहीं मिली तो वह दुकानों में जाकर घुटनों तक भर गया।

कमेंट करें
HPs0V