दैनिक भास्कर हिंदी: अपहरण की साजिश में गिरफ्तार बबुली के 3 कमीशन एजेंट जेल भेजे गए

June 15th, 2018

डिजिटल डेस्क सतना। अन्तरराज्यीय डकैत बबुली कोल और लवलेश कोल के इशारे पर शहर के बस स्टैंड निवासी एक पान व्यवसायी मिथलेश मालवीय पिता रामकुमार (58) को अगवा करने की योजना बनाते पकड़े गए राजेश कोल पिता कामता कोल (38) डोडामाफी,मारकुंडी (यूपी), छोटू उर्फ नारायण गुप्ता पिता विजय  (21) बीरपुर थाना धारकुंडी, और विनय  सेन पिता शिवकुमार  (26) नई बस्ती को गुरुवार शाम कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया। 2 दिन की रिमाण्ड के दौरान धारकुंडी पुलिस ने तीनों से कड़ी पूछताछ की जिससे बबुली गिरोह के बारे में काफी अहम जानकारियां हाथ लगी है। लिहाजा पुलिस टीम तमाम बातों की तस्दीक कर गिरोह का सफाया करने की रणनीति बनाने में जुट गयी है।

जंगल में घुमाया
पूछताछ के दौरान बदमाशों ने पुलिस को बीरपुर में मिलने की जगह से लेकर डोडा माफी थाना मारकुंडी में साढ़े 5 लाख के इनामी बबुली कोल व डेढ़ लाख के इनामी लवलेश  से मिलने का अड्डा भी दिखाया।

व्यापारियों में दहशत
उधर अपहरण की साजिश का पर्दाफाश होने के बाद से शहर के छोटे व्यापारियों में दहशत फैल गयी है। अनजान चेहरो को लोग संदेह भरी नजरों से देखने लगे हैं। यह मामला लगातार चर्चा में बना हुआ है। हालांकि पुलिस कप्तान ने शहर वासियों को आश्वसत किया है कि अपराधियों के मंसूबों को किसी कीमत पर सफल होने दिया जाएगा।

डकैतों की पहुंच से दूर नहीं शहर
इस मामले ने एक बार साबित कर दिया की जंगल में रहने वाले डकैतों की पहुंच शहर तक है। पप्पू यादव से लेकर ढाई लाख के इनामी जुग्गी पटेल के पकड़े जाने तक कई उदाहरण सामने है। कहा तो यहां तक जाता है कि ददूआ और ठोकिया जैसे दुर्दांत डकैत यहां आते रहे हैं। उनके रिश्तेदार खैर खबर तो शहर भर में फैले हैं कुछ रसूखदार भी जरुरत पडऩे पर मदद करने से पीछे नहीं रहे। ऐसे में पुलिस ने एक बार फिर तमाम कनेक्शन खंगालने शुरु कर दिए हैं।