दैनिक भास्कर हिंदी: अक्षय कुमार को 300 करोड़ का मानहानि नोटिस, फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ में कंपनी की छवि खराब करने का आरोप  

January 14th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कुवैत पर इराकी हमले के दौरान वहां फंसे भारतीयों को निकाले जाने की कहांनी पर आधारित 2016 में आई फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ को लेकर एक शिपिंग कंपनी ने फिल्म के मुख्य अभिनेता अक्षय कुमार सहित तीन लोगों को कानूनी नोटिस भेजा है। इस फिल्म में अक्षय कुमार ने भारतीय कुवैती व्यवसायी रंजीत कत्याल की भूमिका निभाई थी। फिल्म के एक दृश्य में दिखाया गया है कि मर्चेंट शीप एमवी साफिर के कैप्टन कुवैत में फंसे भारतीय को दुबई पहुंचाने के लिए 200-200 डॉलर की मांग करते हैं और इससे जहाज का कैप्टन 1 लाख डॉलर की कमाई करता है। अब फिल्म रिलीज होने के तीन साल बाद इस जहाज के मालिक हनीफ मोडक और कैप्टन विराफ कोकोबाड ने अधिवक्ता निलेश ओझा के माध्यम से अक्षय कुमार और इस फिल्म के निर्माताओं प्रतिक तिवारी व प्रशांत तिवारी को 300 करोड़ का मानहानि का नोटिस भेजा है। एडवोकेट ओझा ने बताया कि हमनें चार दिनों पहले यह कानूनी नोटिस भेजा है।

अभिनेता सहित फिल्म निर्माताओं को कानूनी नोटिस
सात दिनों के भीतर कोई जवाब न मिला तो मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में आपराधिक मुकदमा दायर करेंगे। उन्होंने कहा कि 24 जुलाई 1991 को विदेश मंत्रालय ने कैप्टन कोकोबाड को पत्र भेज कर कुवैत में फंसे 700 भारतीयों को सुरक्षित दुबई पहुंचाने के लिए आभार व्यक्त किया था। हमारे पास वह पत्र आज भी मौजूद है। उन्होंने कहा कि कुबैत में फसे भारतीयों को निकालने के लिए जहाज प्रबंधन द्वारा कोई शुल्क नहीं वसूला गया था। एडवोकेट ओझा ने कहा कि हमारे मुवक्किल चाहते हैं कि फिल्म में गलत तथ्य दिखाने के लिए जिम्मेदार लोग एमवी सफर जहाज के मालिकों से बिना शर्ते माफी मांगने के साथ 300 करोड़ रुपए बतौर मुआवजा भी दें।   
 

खबरें और भी हैं...