दैनिक भास्कर हिंदी: जिला अस्पताल के 33 में 32 डॉक्टर गायब, यहां नोटिस का नहीं होता कोई असर

August 7th, 2017

डिजिटल डेस्क, शहडोल। संभाग के सबसे बड़े स्व. कुशाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल में डॉक्टरों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही है। बारिश के इस मौसम में रोगियों की भीड़ बढ़ रही है और OPD में रोजाना औसतन 800 मरीज पहुंच रहे हैं। शिकायतों के बावजूद डॉक्टर समय से अस्पताल पहुंचने और OPD में बैठना उचित नहीं समझ रहे हैं। शनिवार की शाम अचानक निरीक्षण पर पहुंचे CMHO ने स्वयं अव्यवस्था देखी।

अस्पताल में पदस्थ 33 में से केवल 1 डॉक्टर को ड्यूटी पर पाया, शेष 32 डॉक्टर अनुपस्थित पाए गए। इसके लिए उन्होंने सिविल सर्जन को कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। साथ ही स्वयं रोजाना निरीक्षण करने का निर्णय लिया है। ऐसे डॉक्टर जो अवकाश पर नहीं हैं उन्हें नियमत: सुबह शाम दोनों समय अस्पताल में उपस्थित होना चाहिए, लेकिन यहां डॉक्टर शाम के समय अस्पताल नहीं आते हैं और यह स्थिति वर्षों से बनी हुई है।

नोटिस का असर नहीं

विदित हो कि दो दिन पहले भी सुबह के समय एक भी डॉक्टर OPD में मौजूद नहीं थे। पर्ची लेने के बाद मरीज इलाज के लिए भटक रहे थे। जानकारी होने के बाद CS को OPD में बैठकर मरीजों को देखना पड़ा था। दैनिक भास्कर ने इस खबर को प्रमुखता से उजागर किया था। इसे गंभीरता से लेते हुए CMHO ने CS को नोटिस जारी कर अनुपस्थित डॉक्टरों के विरुद्ध कार्रवाई करने को कहा था। इसके बाद भी स्थिति में सुधार होते नहीं दिख रहा है। डॉक्टरोंं की लापरवाही देखकर CMHO ने निर्णय लिया है कि रोजाना शाम को वे अस्पताल का भ्रमण कर वहीं बैठक करेंगे और रोगियों की समस्याओं का निराकरण करेंगे।

शहडोल के CMHO डॉ. राजेश पाण्डेय ने कहा कि अस्पताल के अमले को जिम्मेदार बनाने के लिए प्रयास शुरू किए जा रहे हैं।  रोजाना स्वयं अस्पताल का जायजा लेकर वहां सुनवाई की जाएगी। इसके बाद  निश्चित रूप से कड़े कदम उठाए जाएंगे। अस्पताल में बिना सूचना डॉक्टरों की अनुपस्थिति को उचित नहीं कहा जा सकता।