दैनिक भास्कर हिंदी: चार लाख रूपए लोन देने के नाम पर युवक को लगाया 40 हजार रूपए का चूना

May 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, पांढुर्ना/छिन्दवाड़ा। चार लाख रूपए का लोन देने के नाम पर बीमा एजेंट का काम करने वाले युवक शुभम धानोरकर के साथ 40 हजार रूपए की ठगी होने का मामला सामने आया है। बैंगलोर के बिरला फाइनेंस नामक कंपनी के अधिकारी होने की बात कहते हुए शातिर ठगों ने बीते 10 से 20 मई के अंतराल में एग्रीमेंट, स्टांप, नो-ड्यूज और इनकम टैक्स से संबंधित प्रक्रिया के नाम पर यह राशि सीधे बैंक खाते में जमा करा ली।  लोन क्लीयर कराने के लिए पंद्रह हजार रूपए और मांगे जाने पर शुभम ने देने से मना कर दिया और खुद को ठगी का शिकार मानते हुए साइबर सेल छिंदवाड़ा में मामले की शिकायत करते हुए जांच की मांग की है।

इंटरनेट पर था विज्ञापन

पीड़ित युवक शुभम ने बताया कि इंटरनेट पर आए विज्ञापन में मौजूद नंबरों के माध्यम से संपर्क हुआ। संपर्क करने वाले खुद को बिरला फाइनेंस बैंगलोर के अधिकारी बताकर बहुत ही आसानी से लोन उपलब्ध करा देने की बात कर रहे थे। मेल करके भेजे गए सभी दस्तावेज देखने के बाद उन्होंने चार लाख रूपए का लोन देने की बात कही। पर इसके लिए पहले एग्रीमेंट बनाने कहा, जिसके लिए 2200 रूपए एक बैंक खाते में जमा करा लिए। एग्रीमेंट के बाद स्टांप ड्यूटी के नाम पर पहले पांच हजार और फिर 10 हजार जमा करने कहा। एक अन्य अधिकारी ने बात करते हुए कहा कि आपका लोन होने में दिक्कत हो रही है, इसलिए नो-ड्यूज बनाना पड़ेगा, जिसके 12500 रूपए फिर जमा करा लिए। इसके बाद बताया गया कि अकाउंट होल्ड पर है, इसके लिए इनकम टैक्स रिटर्न के लिए 14500 जमा करने पड़ेंगे। यह सभी राशि एक के बाद एक बैंक खाते में जमा करा लीं गई।

अधिकारी से सेटिंग करने के लिए मांगे 15 हजार
एक के बाद एक सभी राशि जमा करने के बाद सोमवार को बताया गया कि कंपनी के बड़े अधिकारी लोन देने से मना कर रहे है, इसके लिए पंद्रह हजार रूपए और देकर सेटिंग करनी पड़ेगी। फाइनेंस अधिकारियों ने कहा कि पंद्रह हजार रूपए जमा कराते ही चार लाख रूपए लोन की राशि आपके खाते में जमा करा देंगे। कुल 37500 रूपए देने के बाद भी लोन क्लीयर नही होने और सेटिंग कराने के नाम पर पंद्रह हजार रूपए मांगे जाने के बाद शुभम ने उन्हें रूपए देने से मना कर दिया। उसने खुद को ठगी का शिकार मानकर आप बीती परिचितों को बताई और मंगलवार को शिकायत लेकर वह साइबर सेल छिंदवाड़ा पहुंचा।

बैंगलोर का खाता बताकर दिल्ली के खाते में जमा कराए रूपए
शुभम जिन अधिकारियों से संपर्क में था, वे खुद को बिरला फाइनेंस बैंगलोर के अधिकारी बताकर रूपए बैंक ऑफ बड़ौदा के एक बैंक खाते में जमा करा रहे थे। शुभम को दिया गया खाता नंबर 21380100021093 बैंगलोर ब्रांच का होना बताया गया था। जबकि यह खाता किसी सुरभि शर्मा के नाम से दिल्ली के भोलानाथ नगर के बड़ौदा बैंक ब्रांच का है। लोन देने के नाम पर एग्रीमेंट भी किसी आनंद शर्मा के नाम से बनाया गया, जिसे कंपनी का डायरेक्टर जनरल होना बताया गया। इस तरह रूपए जमा कराने से लेकर अन्य बातों से यह पूरा मामला ठगी का साबित हो रहा है।

खबरें और भी हैं...