दैनिक भास्कर हिंदी: आग लगने की 4899 घटनाओं में गई 52 लोगों की जान, 16 करोड़ की संपत्ति खाक

March 13th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में साल 2018 में आग लगने की 4899 घटनाएं हुईं हैं। इस दौरान आग की चपेट में आने से महानगर में पांच बच्चों समेत 52 लोगों की जान गई है। आग लगने की घटनाओं के चलते 16 करोड़ रुपए की संपत्ति का भी नुकसान हुआ है। हैरानी की बात ये है कि आग लगने की 3195 घटनाओं की वजह शार्ट सर्किट है जबकि गैस सिलेंडर के चलते आग लगने की 111 घटनाएं हुईं हैं। दमकल विभाग ने सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत शकील अहमद शेख को यह जानकारी दी है। मुंबई दमकल विभाग के जनसंपर्क अधिकारी और विभागीय अग्मिशमन अधिकारी एस डी सावंत ने जानकारी दी है कि पिछले साल 151 गगनचुंबी इमारतों में आग लगने की घटनाएं हुईं। इसके अलावा 969 रिहाइशी और 386 व्यावसायिक इमारतें भी आग की चपेट में आईं। अन्य 2849 जगहों पर भी आग लगने की घटनाओं को दर्ज किया गया है। महानगर में आग लगने की घटनाओं में जिन 52 लोगों ने जान गंवाई है उनमें 36 पुरूष, 11 महिलाएं और पांच बच्चे शामिल हैं। आग से कुल 16 करोड़ 10 लाख 52 हजार 660 रुपए की संपत्ति का नुकसान हुआ है। महानगर के अंधेरी, मरोल, चेंबूर और वर्ली इलाकों में आग लगने की सबसे ज्यादा वारदातें सामने आईं हैं। गनीमत ये रही है कि पिछले साल आग बुझाने के दौरान किसी दमकल कर्मी की मौत की घटना नहीं हुई है।     
 

खबरें और भी हैं...