comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

गायगांव पेट्रोल डिपो से पेट्रोलियम पदार्थ चुराते 6 आरोपी पकड़ाए

August 08th, 2018 18:28 IST
गायगांव पेट्रोल डिपो से पेट्रोलियम पदार्थ चुराते 6 आरोपी पकड़ाए

डिजिटल डेस्क, अकोला।Six people stole petroleum substations from the Petroleum Depot Ural police station inspector got the secret information that some people in Gagaon are stealing petroleum products.इस जानकारी के आधार पर पुलिस दल ने छापामार कार्रवाई करते हुए 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 4 लाख 43 हजार 700 रूपए का माल जब्त कर लिया। 

बालापुर तहसील अंतर्गत आने वाले गायगांव में एचपी पेट्रोलियम, भारत पेट्रोलियम, इण्डेन पेट्रोलियम का डिपो है। इस डिपो से अमरावती संभाग के अकोला, वाशिम, बुलढाणा, यवतमाल, अमरावती में पेट्रोलियम पदार्थों का वितरण होता है। रेलवे से आने वाले इन पदार्थों की चोरी करने वाला गिरोह सक्रिय है। इसी बीच रात को गश्त लगा रहे उरल पुलिस थाना निरीक्षक सतीश पाटील को गुप्त जानकारी मिली कि नातलगवाड़ी के पास खड़ी वैगन से पेट्रोलियम पदार्थों की चोरी कर रहे है। इस जानकारी के आधार पर उन्होंने दल के साथ छापामार कार्रवाई की। इस समय पुलिस ने 6 आरोपियों ने को गिरफ्तार कर लिया। जबकि 3 से चार आरोपी अंधेरे का लाभ उठाकर फरार हो गए।

कार्रवाई के दौरान पुलिस ने तीन वाहन, पेट्रोलियम पदार्थों से भरी कैन समेत 4 लाख 43 हजार 700 रूपए का माल जब्त किया। इस मामले में भारत पेट्रोलियम डेपो के व्यवस्थापक गोविंदकुमार श्यामसुंदर मुंदड़ा  की शिकायत पर पुलिस ने अरारोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया। 

इन लोगों को किया गिरफ्तार  
गायगांव डिपो के पास खड़ी ट्रेन के वैगन से पुलिस ने पेट्रोलियम पदार्थ चोरी करते समय साहेबखान शमशेरखान (27), सुधाकर भिकाजी रणवरे (48), अक्षय प्रकाश आगरकर ( 20 ), रूपेश रमेश भाकरे (19), गणेश रामकृष्णा भाकरे (43), शिवहरी प्रकार भाकरे (28) शामिल हैं। जबकि पुलिस को देखकर कुछ आरोपी अंधेरे का लाभ उठाकर फरार होने में कामयाब हो गए। 

माल किया गया जब्त
पुलिस ने छापे के पश्चात वहां से कार एमएच 01 एसी 0535 से 12 प्लास्टिक कैन जिसमें 30 लीटर की  पेट्रोलियम पदार्थ  भरा हुआ था, 3 खाली कैन, पाईप, टाटा जिप क्रमांक एम.एच 30 बी 0732 जिसमें  30 लीटर की 4 प्लास्टिक कैन, 54 खाली प्लास्टिक कैन, एक प्लास्टिक पाईप, 16 कैन में निकाला गया पेट्रोलियम पदार्थ, कार एमएच 01 एसी 0535 का जब्त कर लिया। 

दो शिफ्टों में करते थे चोरी
गायगांव डिपो से पेट्रोलियम पदार्थों की चोरी करने वाले दो गिरोह सक्रिय हैं। जिसमें दोनों गिरोह अपने तरीके से अंजाम दिया करते हैं। रात में पेट्रोलियम पदार्थों की चोरी करने वाला गिरोह खड़ी ट्रेन के सील तोड़कर निकालता है। जबकि दूसरे गिरोह का चोरी करने का तरीका पहले गिरोह से अलग है। दूसरा गिरोह डिपो से पेट्रोलियम पदार्थ भरकर निकले टैंकर चालकों से सांठगांठ करते हुए टैंकरों से पेट्रोलियम पदार्थ निकालते हैं, जिसके एैवज में रकम अदा की जाती है। टैंकर चालक से इन पेट्रोलियम पदार्थ से खरीदकर दूसरे लोगों को अधिक दामों पर बेचा जाता है। 

कमेंट करें
UsxRv
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।