• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • 6 members of parcel thief gang, arrested along with gangster, RPF, recovered goods worth 70 thousand

दैनिक भास्कर हिंदी:  सरगना समेत आरपीएफ के हत्थे चढ़े पार्सल चोर गिरोह के 6 सदस्य -70 हजार का सामान बरामद

September 25th, 2019

डिजिटल डेस्क सतना। चलती यात्री गाडिय़ों के एसएलआर से माल उड़ाने में माहिर एक शातिर गिरोह के सरगना समेत 6 सदस्यों को आरपीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। आरपीएफ ने हाल ही में चोरी गए 70 हजार रुपए मूल्य का सामान बरामद करते हुए घटना में शामिल बोलेरो पिकअप एमपी -19 जीए 3702 भी जब्त कर ली है। उल्लेखनीय है, 19 सितंबर को जैतवारा-खुटहा के बीच अज्ञात बदमाशों ने एलटीटी -मडुआडीह सुपरफास्ट की पार्सल बोगी से माल पार कर दिया था। मामला संज्ञान में आने पर प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त कंचन चरण और मंडल सुरक्षा आयुक्त अनिल भालेराव ने आरोपियों की धरपकड़ के सख्त निर्देश दिए थे। वारदात को गंभीरता से लेते हुए सहायक सुरक्षा आयुक्त अजय एन संसारे तथा एलएल हंसदा ने स्वयं कमान संभाली। 
पहचान छिपा कर काम करता था मास्टर माइंड 
आरपीएफ के हत्थे चढ़ा गिरोह का 42 वर्षीय सरगना फिरोज खान पिता नासिर खान मूलत: पश्चिम बंगाल के आसनसोल का रहने वाला है। वो यहां कोलगवां थाना क्षेत्र के घूरडांग स्थित चमन चौक में किराए के मकान में रहता था। पहचान छिपाने के लिए उसने अपना नाम सूरज जायसवाल रख लिया था। पकड़ में आए सरगना की निशानदेही पर गिरोह में शामिल 5 अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 
 मझगवां में था अड्डा
चलती यात्री गाडिय़ों से माल उड़ा कर उसे छिपाने का काम मझगवां स्थित आनंद कालोनी में संजय जायसवाल उर्फ बंटा पिता सियाराम जायसवाल (24) के घर पर किया जाता था। आरोप है कि बंटा ही माल को लाने ले जाने के लिए बोलरे पिकअप उपलब्ध कराता था। गिरोह के अभी 2 सदस्य फरार बताए गए हैं। जिन्हें गिरफ्तार किया गया है उनमें फिरोज खान और संजय जायसवाल के अलावा  सुरेश उर्फ रिंकू पिता छेदीलाल विश्वकर्मा (28) निवासी वायपास नईबस्ती मझगवां,  शंकर सिंह गोड़ पिता राजकुमार (35) , जीवन गोंड पिता राजाराम गोंड (36)  और रावेन्द्र उर्फ वीरेन्द्र गोंड पिता बाबू लाल (26) सभी निवासी चितहरा (मझगवां)शामिल हैं।  
ऐसे करते थे वारदात 
चलती ट्रेन की पार्सल बोगी का माल पार करने में गिरोह के सरगना फिरोज खान  को महारत हासिल थी। इस आरोपी के खिलाफ ऐसी ही वारदातों के चलते आरपीयूपी एक्ट 1966 की धारा- 3 के तहत पहले से ही 7 अपराध अदालत में विचाराधीन हैं। आरपीएफ के मुताबिक 19 सितंबर को गिरोह के 2 बदमाश जबलपुर से एलटीटी -मडुआडीह सुपरफास्ट के विकलांग कोच में सवार हुए। गाड़ी जैसे ही रात में जैतवारा के पास धीमी हुई दोनों पार्सल कोच में पहुंच गए और सील तोड़ दी। जैतवारा-चितहरा के बीच टर्निंग में ट्रेन की रफ्तार धीमी पड़ते ही एक-एक 30 पार्सल नीचे फेंक दिए। रात के अंधेरे में ही बोलेरो पिकअप में चोरी का माल लोड कर मझगवां पहुंचा दिया गया। बदमाश चोरी के पार्सल के रैपर अच्छी तरह से जला देते थे और फिर नए रेपर लगा कर माल को बाजार में बेंच लेते थे।   
 

खबरें और भी हैं...