दैनिक भास्कर हिंदी: ऊंचे टॉवर पर चढ़ चिल्लाने लगी महिला, दमकलकर्मियों ने बचाया

January 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, पुणे। समाज कल्याण विभाग में पिछले सात साल से लंबित प्रकरण पर कार्यवाही न होने से हताश महिला ऊंचे टॉवर पर चढ़ गई। जिसे दमकलकर्मियों ने सही सलामत नीचे उतारा। महिला चंद्रपुर की रहने वाली है। कलेक्ट्रेट इलाके में लगे टावर पर आंदोलन करने चढ़ी थी। सोनूबाई येवले नामक महिला की उम्र 45 साल है, जो पुणे स्थित समाज कल्याण विभाग के कार्यालय में पिछले सात साल से एक मामले में लंबित है। इस प्रकरण पर जल्द से जल्द कार्यवाही होने की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से कार्यालय के चक्कर लगा रही थी, लेकिन जब उसकी ओर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा था। तो मंगलवार सुबह दस बजे जिलाधिकारी कार्यालय स्थित 60 फीट ऊंचे टॉवर पर चढ़ गईं और जोर जोर से चिल्लाने लगी। लाेगों ने नीचे उतरने के लिए कहा, लेकिन वह किसी की बात नहीं सुन रही थीं। आखिरकार दमकल विभाग से संपर्क किया गया। खबर मिलते ही दमकल विभाग के जवान घटनास्थल पहुंचे और उन्होंने सोनूबाई को सही सलामत नीचे उतारा। 

आईटीआई के छात्र ने की खुदकुशी
उधर आईटीआई कर रहे छात्र ने अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। यह घटना मंगलवार को चिंचवड़ के वाल्हेकरवाड़ी में सामने आई। पुलिस ने बताया कि 17 वर्षीय विशाल भंडे ने खुदकुशी की। जिसे लेकर चिंचवड़ पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। विशाल परिवार के साथ वाल्हेकरवाड़ी में रहता था। आकुर्डी स्थित संस्था में आईटीआई की शिक्षा ले रहा था। परिवार की आर्थिक हालात ठीक न होने के कारण वह रोज सुबह अखबार डालने का काम करता था। उसके पिता निजी संस्था में बतौर सिक्योरिटी गार्ड काम करते हैं। सोमवार को जब पिता रोज की तरह काम पर गए। वहीं मां और बहन रिश्तेदार की शादी के लिए इंदापुर गए थे। विशाल घर में अकेला ही था। सुबह करीब साढ़े सात बजे अखबार डालने आए एक शख्स ने विशाल के घर की खिड़की से झांका, तब वो फांसी पर झूलता दिखा। उसने इस बारे में पड़ोसियों को भी बताया। पड़ोसियों ने विशाल के पिता से संपर्क कर उन्हें सूचना दी। विशाल ने खुदकुशी क्यों की इसकी वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है।   
 

खबरें और भी हैं...