दैनिक भास्कर हिंदी: पैसे चोरी करने से था नाराज, हत्या कर फेंक दी बिना कपड़ों की लाश

April 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। रेल पटरियों के पास मिली एक बिना कपड़ों की लाश की गुत्थी पुलिस हाथ पर लिखे नाम के सहारे सुलझाने में कामयाब रही। गिरफ्तार आरोपी ने खुलासा किया है कि उसने पैसे चोरी करने से नाराज होकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। डोंबिवली के मानपाडा इलाके में 26 अप्रैल को एक शख्स का शव मिला था। शव नग्न अवस्था में था और लगभग सड़ चुका था। नांदिवली गांव में दिवा-पनवेल रेलवे ट्रैक के बगल में स्थित झाड़ियों में यह शव फेंका गया था। सीनियर इंस्पेक्टर संजू जॉन की अगुआई में ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने भी मामले की समानांतर जांच शुरू की। शव को बारीकी से देखने पर मृतक के हाथ पर गोंदना नजर आया। हाथ पर लूचन नाम लिखा हुआ था।

झाड़ियों में शव फेंका

पुलिस ने खबरियों को सक्रिय किया और इस नाम के सहारे मृतक की पहचान की कोशिश शुरू हुई। जल्द ही पुलिस को जानकारी मिली कि मृतक का पूरा नाम लूचन सिंह सुना है और वह मूल रूप से उड़ीसा का रहने वाला है। पुलिस को पता चला कि लूचन बालाजी गार्डन कंस्ट्रक्शन में मजदूरी करता था और वहीं अपने दूसरे साथियों के साथ रहता था। इसके बाद पुलिस ने संदेह के आधार पर उसके साथ रहने वाले सौदागर तांडी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। उड़ीसा के कालाहांडी में स्थित बोरफागांव के तांडी ने स्वीकार किया कि उसने ही लूचन की हत्या की है। तांडी ने बताया कि लूचन ने दो बार उसके पैसे चुरा लिए थे। इसी से नाराज होकर उसने शराब के नशे में सो रहे लूचन की गला दबाकर हत्या कर दी और पहचान मिटाने के लिए सारे कपड़े उतारकर शव सुनसान जगह पर ले जाकर फेंक दिया।   
 

खबरें और भी हैं...