comScore

टाइगर की खाल सहित आरोपी गिरफ्तार -  शिकारी ने फॉरेस्ट की टीम से ही कर लिया सौदा

टाइगर की खाल सहित आरोपी गिरफ्तार -  शिकारी ने फॉरेस्ट की टीम से ही कर लिया सौदा

 छिंदवाड़ा। वन विभाग की टीम ने छिंदवाड़ा वनवृत्त के अंतर्गत मोठार के पास स्थित ग्राम डबेरा से टाइगर की खाल पकड़ी है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने ग्राम डबेरा निवासी नीरज उर्फ गुड्डू परतेती के पास से यह खाल जब्त की है। आरोपी को यह खाल कैसे मिली इसकी पूछताछ जारी है। प्राथमिक तौर पर पूछताछ में सामने आया है कि टाइगर की खाल कुछ माह पुरानी है। पिछले तीन दिनों से वन विभाग की टीम मुखबिर की सूचना पर आरोपी पर नजर बनाए रखी थी। इसके लिए वनरक्षक मृणाल ठाकरे और हरीश नागवंशी 20 जुलाई को व्यापारी बनकर आरोपी के पास पहुंचे थे जहां उन्होंने आरोपी को विश्वास दिलाया कि उनके परिचित में एक बाबा है जो टाइगर की खाल से धनवर्षा करता है। तीन दिन पहले सब कुछ तय होने के बाद बुधवार को व्यापारी बनकर पहुंचे वनरक्षकों ने आरोपी नीरज परतेती से खाल साफ करने के लिए बाहर लाने कहा जिसके बाद टीम ने आरोपी को रंगे हाथ पकड़ लिया। अब इस मामले में वन विभाग की टीम पूछताछ कर रही है, जिसमें एक लंबी चैन सामने आ सकती है। एसडीओ बीएस सोलंकी के वारंट जारी होने के बाद बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। इस कार्रवाई में वनरक्षक मृणाल ठाकरे, हरीश नागवंशी के अलावा वनपरिक्षेत्र अधिकारी एसएस राजपूत, राजेश श्रीवास्तव व अन्य शामिल रहे।
हाल ही में हुआ शिकार, बेफिक्र वन विभाग
टाइगर की खाल पकडऩे के बाद वन विभाग अपनी पीठ थपथपा रहा है।   प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि लॉकडाउन के पहले यानी मार्च -अप्रैल में बाघ का शिकार हुआ है। बाघ की खाल कुछ माह पुरानी है जिसके कारण विभाग की गश्ती पर सवाल उठ रहा है। वहीं संभावना जताई जा रही है कि मार्च अप्रैल माह में चौरई क्षेत्र में बाघ की मूवमेंट थी अब विभाग इसी कड़ी में जांच कर रहा है।
बाघ का शिकारी कौन
वन विभाग ने खाल के साथ एक आरोपी को पकड़ा है लेकिन अब तक इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि बाघ का शिकारी कौन है। आरोपी नीरज परतेती ग्राम डबेरा में खेत में झोपड़ी बनाकर रहता है। वन अधिकारियों की माने तो इस पूरे मामले में लंबी चैन सामने आएगी जिसमें और भी लोगों को पकड़ा जाएगा।
पूछताछ में बदल रहा बयान
आरोपी नीरज परतेती पूछताछ में लगातार अपने बयान बदल रहा है। वन विभाग के द्वारा कड़ाई से की गई पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह घर में सोया हुआ था, जहां एक व्यक्ति उसके पास यह खाल रखकर गया है। आरोपी का कहना है कि वह उस व्यक्ति को नहीं जानता है।
इनका कहना है
- मोठार के पास ग्राम डबेरा में आरोपी नीरज उर्फ गुड्डू परतेती के निवास से बाघ की खाल जब्त की है। मुखबिर की सूचना पर वन विभाग की टीम ने पहुंचकर आरोपी को खाल के साथ गिरफ्तार किया है, जहां पूछताछ चल रही है। इस मामले में और भी आरोपियों के नाम सामने आ सकते है।
- भारत सिंह सोलंकी, एसडीओ, छिंदवाड़ा।
 

कमेंट करें
R1ige