comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मुख्यमंत्री व मंत्री  के नाम का रोचक विश्लेषण,राकांपा नेता का कथन घूम रहा सोशल मीडिया पर 

मुख्यमंत्री व मंत्री  के नाम का रोचक विश्लेषण,राकांपा नेता का कथन घूम रहा सोशल मीडिया पर 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व ऊर्जामंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के नाम को लेकर पूर्व मंत्री व एनसीपी नेता अजित पवार ने रोचक विश्लेषण किया। बावनकुले को पचास दो कुले व फडणवीस को फडण दो शून्य कहा। गुरुवार को विधानसभा में पवार के इस कथन का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ। पवार भी ऊर्जामंत्री रहे हैं। उनके व्यंग्य अक्सर मुख्यमंत्री व ऊर्जामंत्री को लेकर रहते हैं। नाम को लेकर उन्होंने जिस अंदाज में व्याख्या की उसे सुनकर लोग हंस पड़े। दरअसल विधानमंडल का मानसून सत्र चल रहा है। पवार राकांपा विधायक दल के नेता भी हैं।

उन्होंने विधानसभा में बालभारती की पुस्तक में शिक्षा प्रणाली के बदले हुए स्वरुप का सवाल उठाया। गणित की पुस्तक में दूसरी कक्षा में बड़ा बदलाव किया गया है। पवार ने कहा कि यह बदलाव किसी भी स्थिति में स्वागत योग्य नहीं है। मराठी का अंगरेजीकरण किया जा रहा है। 97 अर्थात सतानबे को नब्बे और सात पढ़ने को कहा गया है। अंकों को इस तरह की पढ़ना रहा तो बावनकुले को पचास दो कुले व फडणवीस को फडण दाे शून्य पढ़ना होगा। बावनकुले आते दिखे तो कहना होगा पचास दो कुले आ रहे हैं।

पवार ने व्यंगात्मक लहजे में बालभारती में पठन सामग्री में बदलाव की मांग की। उन्होंने विनाेद तावडे व आशीष शेलार को लेकर भी ताना मारा। तावडे व शेलार को राज्य भाजपा में बड़े नेता माना जाता रहा है। तावडे शिक्षा मंत्री से संसदीय कार्य मंत्री बनाए गए हैं। शेलार को शिक्षामंत्री बनाया गया है। पवार ने कहा कि तावड़े भले ही गणित में बदलाव कर कुछ नहीं कर पाए पर शेलार को कुछ करके दिखाना ही होगा। समय कम है। विधानसभा चुनाव आ रहा है। नेताओं की व्यंगात्मक चर्चा इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा की विषय बनी हुई है। विधानसभा चुनाव में नेताओं के कथन को लेकर क्या माहौल बनता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

कमेंट करें
tPRkA