comScore

तनाव के बीच चीनी कंपनी के साथ महाराष्ट्र सरकार का 7600 करोड़ का करार

तनाव के बीच चीनी कंपनी के साथ महाराष्ट्र सरकार का 7600 करोड़ का करार

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सीमा पर भारत-चीन में झड़पों के बीच महाराष्ट्र सरकार ने चीन की जीडब्लूएम कंपनी के साथ एक अरब डॉलर यानि 7600 करोड़ से अधिक रुपए का औद्योगिक करार किया है। भारत-चीन के बीच बढ़ते बैमनस्य के बीच चीन की प्रमुख वाहन निर्माता कंपनी ग्रेट वॉल मोटर्स (जीडब्लूएम) ने महाराष्ट्र सरकार के साथ एक करार किया है, जिसके तहत कंपनी पुणे के तलेगांव में 300 एकड़ क्षेत्र में 3770 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। चीनी कंपनी चरणबद्ध तरीके से 7600 करोड़ रुपए का निवेश करने वाली है। इससे तीन हजार लोगों को रोजगार मिलने का दावा किया गया है। इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार ने एक अन्य चीनी कंपनी हेंगली इंजिनियरिंग के साथ 250 करोड़ रुपए के निवेश का भी करार किया है जिससे 150 लोगों को रोजगार मिलने वाला है।

तलेगांव में वाहन निर्माता कंपनी लगाएगी यूनिट

ग्रेट वॉट मोटर एसआईवी स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहन बनाने के लिए प्रसिद्ध है। जिसकी भारत में तेजी से मांग बढ़ी है। बीते जनवरी में इस कंपनी ने अमेरिकी वाहन कंपनी जनरल मोटर्स के साथ तेलगाव स्थित प्लांट के अधिग्रहण के लिए एग्रीमेंट किया था। कंपनी तलेगांव में ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी को और भी बेहतर बनाएगी। जिससे इस प्लांट में विश्वस्तर की तकनीक और सुविधाओं का इस्तेमाल किया जाएगा। जीडब्लूएम की भारतीय सहायक कंपनी के प्रबंध निदेशक पार्कर शी ने कहा कि हम महाराष्ट्र को पूर्ण समर्थन देने और लंबे पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग को बढ़ावा देने के लिए धन्यवाद देना चाहेंगे। महाराष्ट्र उद्योग विभाग की ओर से बीते सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में मैग्नेटिक महाराष्ट्र -2 का शुभारंभ किया गया था जिसमें अमेरिका, चीन, द.कोरिया, सिंगापुर आदि 12 देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए। राज्य के उद्योगमंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि अब तक महाराष्ट्र में 16 हजार करोड़ रुपए का निवेश करार हुआ है। 

कमेंट करें
PyMl3