दैनिक भास्कर हिंदी: आवारा श्वान की बेदम पिटाई करने पर युवती ने दर्ज कराई FIR,पशुप्रेमी हुए एकजुट

September 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आवारा श्वान को मारना एक व्यक्ति को उस वक्त भारी पड़ गया, जब एक पशुप्रेमी युवती ने उसके खिलाफ थाने में मामला दर्ज कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए आरोपी के विरोध में जांच आरंभ कर दी है। यह मामला कलमना थाना परिसर का है।

पारड़ी क्षेत्र निवासी युवती मंगला उर्फ गौरी छत्तर पशुप्रेमी है। सड़कों पर आवारा श्वान को वह नि:स्वार्थ खाना खिलाती है। वही उनकी देखभाल भी करती है। परिसर में ही रहनेवाले आरोपी सुरेश वर्मा ने 11 सितंबर को एक श्वान को मामूली कारण से बड़ी बेरहमी से मारा। जिससे श्वान के नाक व मुंह से खून निकलने लगा था। वही श्वान के आंखों के नीचे भी जख्म बन गये। श्वान को घायल  अवस्था में देखने के तुरंत बाद गौरी ने पशुप्रेमी संगठन के स्वनिल बोधाने से संपर्क किया। जिसके बाद श्वान को भांडेवाडी परिसर में मनपा के पशुनिवारण केन्द्र इलाज के लिए भेजा गया।

श्वान को किया एडमिट
पशुवैद्यकीय चिकित्सक आशीष जैस्वाल ने घायल श्वान का इलाज किया। श्वान की हालत ठीक होने तक उसे यहीं एडमिट रखा गया। घटना के लिए जिम्मेदार आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्र‌वाई करने के लिए गौरी ने किंग कोबरा संगठन के अध्यक्ष अरविंद कुमार रतुडी, शुभम पराले की मदद ली। सारा घटनाक्रम बताते हुए कलमना थाने में इसके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया।

सड़क पर घूमने वाले श्वान या अन्य किसी भी पशुओं को हानि पहुंचाने पर पशुक्रूरता अधिनियम अंतर्गत कार्रवाई की जाती है। ऐसे में ऐसी घटनाओं की जानकारी पास ही के पुलिस स्टेशन को देने की अपील पशुप्रेमियों ने की है। याद रहे इससे पहले भी शांतिनगर परिसर में श्वान को पीट-पीट कर मारने की घटना में कार्रवाई हुई है। वहीं भरी दोपहर में बैलों से मालढुलाई कराने पर भी लकडगंज पुलिस स्टेशन पर 2 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। पशुप्रेमी संगठन की पहल से शहर में जहां आवारा पशुओं को संरक्षण मिल रहा है वहीं आवारा पशुओं की संख्या बढ़ने व इन पर अंकुश रखने की मांग भी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...