दैनिक भास्कर हिंदी: एंटीलिया विस्फोटक मामले में एक और पुलिसकर्मी बर्खास्त

May 24th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार खड़ी करने और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में गिरफ्तार पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे को भी पुलिस की नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। शिंदे से पहले मामले में मुख्य आरोपी सचिन वाझे और अपराध में उसका साथ देने वाले रियाजुद्दीन काजी को भी बर्खास्त किया जा चुका है। सोमवार को पश्चिम विभाग के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त ने शिंदे की बर्खास्तगी से जुड़ा आदेश जारी किया। उसे संविधान की धारा 311(2)(बी) के तहत बर्खास्त किया गया है। शिंदे ने रिटायर्ड एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा की टीम में काम किया था। उसे साल 2007 में हुए लखन भैया फर्जी मुठभेड़ कांड में दोषी ठहराया गया था, जिसके बाद वह जेल में सजा काट रहा था। इस दौरान उसे निलंबित कर दिया गया था। कोरोना संक्रमण के चलते उसे पिछले साल मई महीने में पैरोल पर छोड़ा गया था।

सूत्रों के मुताबिक जेल से बाहर आने के बाद उसने वाझे से संपर्क किया तो वाझे ने उसे मुंबई के बीयर बारो से वसूली का काम सौंपा था। आरोप है कि शिंदे ने एंटीलिया विस्फोटक और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के साथ मामले से जुड़े सबूत मिटाने में भी वाझे का पूरा साथ दिया। जांच एजेंसी का दावा है कि हिरेन की हत्या के वक्त शिंदे भी वहां मौजूद था। शिंदे और बुकी नरेश गोर मामले की शुरुआती छानबीन करने वाली एटीएस ने गिरफ्तार किया था। बाद में मामले की जांच और आरोपियों को एनआईए को सौैंप दिया गया।

खबरें और भी हैं...