दैनिक भास्कर हिंदी: हज के लिए अब 10 जनवरी तक किया जा सकेगा आवेदन – नकवी 

December 10th, 2020

डिजिटल  डेस्क, मुंबई। देश में हज 2021 के लिए अब 10 जनवरी 2021 तक आनेदन किया जा सकेगा। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यह घोषणा की है। गुरुवार को नकवी की अध्यक्षता में मुंबई के हज हाउस में भारत की हज समिति की बैठक हुई। पत्रकारों से बातचीत में नकवी ने कहा कि हज के लिए आवेदन फार्म को भरने की आखिरी तारीख 10 दिसंबर 2020 थी। लेकिन देश की कई राज्य सरकारों और विभिन्न संगठनों ने हज के लिए आवेदन की तिथि बढ़ाने की मांग की थी। इसके मद्देनजर अब हज के लिए 10 जनवरी तक आवेदन किया जा सकेगा। नकवी ने कहा कि हज के लिए अब तक 43 हजार आवेदन मिल चुके हैं। उन्होंने कहा कि हज के लिए प्रति हज यात्रियों का संभावित खर्च भी इम्बार्केशन पॉइंट के आधार पर कम कर दिया गया है। मुंबई और अहमदाबाद इम्बार्केशन पॉइंट्स से जाने वाले प्रति हज यात्रियों के लगभग 3 लाख 30 हजार रुपए खर्च होंगे। बेंगलुरु, लखनऊ, दिल्ली और हैदराबाद एम्बार्केशन पॉइंट्स से जाने वाले हज यात्रियों को करीब 3 लाख 50 हजार रुपए, कोच्चि और श्रीनगर एम्बार्कशन पॉइंट्स से सफर करने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 60 हजार रूपए, कोलकाता एम्बार्कशन पॉइंट से हज पर जाने वाले यात्रियों को लगभग लगभग 3 लाख 70 हजार रुपए और गुवाहाटी एम्बार्कशन पॉइंट से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 4 लाख रुपए खर्च करने पड़ेंगे। नकवी ने कहा कि हज 2021 जून- जुलाई महीने में होगा। अभी तक निर्धारित अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा के प्रोटोकॉल के तहत हज यात्रियों को यात्रा पर जाने से पहले 72 घंटे पहले कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य होगा। नकवी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण हज यात्रा की प्रक्रिया में काफी बदलाव किया गया है।

इसमें आवास व्यवस्था, श्रद्धालुओं की ठहरने की अवधि, परिवहन सेवा, भारत और सऊदी अरब में स्वास्थ्य और अन्य सुविधाएं का समावेश है। कोरोना के प्रभाव के कारण आयु मानकों में बदलाव हो सकता है। नकवी ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते इन्बार्केशन पाइंट की संख्या को कम करके 10 कर दी गई है। हज 2021 के लिए मुम्बई इन्बार्केशन पाइंट से महाराष्ट्र, गोवा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, दमन और दीव, दादर व नगर हवेली के हज यात्री सफर कर सकेंगे। इसके अलावा अहमदाबाद से गुजरात के सभी हज यात्री, बेंगलुरू से कर्नाटक के सभी हज यात्री, कोच्चि से केरल, लक्षद्वीप, पुड्डुचेरी, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार के सभी यात्री,दिल्ली से दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, उत्तराखंड, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के पश्चिम क्षेत्र के सभी यात्री,  गुवाहाटी से असम, मेघालय, मणिपुर, अरूणाचल प्रदेश, सिक्किम, नगालैंड के सभी यात्री, हैदराबाद से आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के सभी यात्री, कोलकाता से पश्चिम बंगाल, ओडिशा त्रिपुरा, झारखंड और बिहार के सभी यात्री, लखनऊ से पश्चिम उत्तर प्रदेश के अलावा राज्य के अन्य अंचल के सभी यात्री, श्रीनगर से जम्मू-कश्मीर, लेह, कारगिल, लद्दाख के सभी यात्री हज पर जा सकेंगे।