comScore

 मछली पकड़ने रोका तो वन अधिकारियों पर कर दिया हमला

 मछली पकड़ने रोका तो वन अधिकारियों पर कर दिया हमला

डिजिटल डेस्क, नागपुर । वन विभाग की जमीन पर मछली पकड़ रहे मच्छीमार को टोकने पर उसने वन विभाग के अधिकारियों पर हमला कर दिया। जिसमें 2 ड्राइवर बुरी तरह से घायल हो गये। जानकारी मिलते ही शहर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच आरोपी को हिरासत में लिया। घटना सोमवार शाम को हुई।

नागपुर शहर में बडे़ पैमाने पर वन विभाग की जमीन फैली है। जहां नदी, नाले बहते हैं। बारिश के बाद यह लबालब हो रहे हैं। नियमानुसार वन विभाग की जमीन पर बिना अनुमति आना मना है। जिसका मुख्य कारण सुरक्षा भी है। तेंदुआ, भालू जैसे खतरनाक जानवर भी यहां मौजूद है। बावजूद इसके कुछ लोग नियमों को ताक पर रखते हुए वन विभाग अंतर्गत मछली पकड़ने पहुंच जाते हैं। उपरोक्त घटना में भी कुछ ऐसा ही हुआ है।

रेंज फॉरेस्ट ऑफीसर को सूचना मिली थी, कि नया काटोल नाका के पास बहनेवाले नाले पर एक व्यक्ति बैठ मछली पकड़ रहा है। ऐसे में इसकी जानकारी गोरेवाड़ा फॉरेस्ट विभाग को दी गई। जिसके बाद वनपाल एन.पी. चव्हान वाहन चालक नरेंद्र मिसाड, अश्वीन रामजी यादव के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। आरोपी नितीन कुमार शंकर कुसराम (27) निवासी मकरधोकडा, नागपुर यहां मछली पकड़ने में मग्न था। ऐसे में वन अधिकारी ने उसे जाने के लिए कहा। लेकिन वह नहीं माना  विवाद के बाद आरोपी ने गालीगलौच करना शुरू कर दिया। हाथ में रखे लोहे के एंगल से मारपीट की। जिससे वाहन चालक जख्मी हो गये। ऐसे में तुरंत गिट्‌टीखदान पुलिस स्टेशन में इसकी जानकारी दी गई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

वन विभाग की लापरवाही आ रही सामने 

वन विभाग की जगह पर अनजान व्यक्ति नहीं आ सकता है। इसका ऐहतियात बरतने के लिए गार्ड से लेकर टीम रखी गई है। जो जंगल इलाकों में हमेशा सक्रिय रहते हैं। बावजूद इसके उपरोक्त मामले में रिजर्व फॉरेस्ट इलाके में आरोपी का पहुंच आराम से मछली पकड़ते रहना वन विभाग की लापरवाही को उजागर करता है। आरोपी यहां जिस तरह से निश्चिंत होकर मछली पकड़ रहा था, जिससे वह यहां पहले से ही आते-जाते रहा होगा ऐसा कहा जा सकता है।

कमेंट करें
dSMgo