comScore

सड़कों पर मवेशियों को खुला छोड़ने वाले हो जाएं सावधान,  जाना पड़ेगा जेल

सड़कों पर मवेशियों को खुला छोड़ने वाले हो जाएं सावधान,  जाना पड़ेगा जेल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लापरवाहीपूर्वक शहर की सड़कों पर मवेशियों को छोड़नेवालों की अब खैर नहीं है।  मनपा के पशु विभाग के साथ मिलकर अब शहर पुलिस इन पर कार्रवाई करने के तैयार है।  जिसका आगाज मंगलवार को हुआ है। मानकापुर पुलिस के साथ मिलकर मनपा पशुविभाग ने 18 मवेशियों को हिरासत में लेकर इनके 4 से ज्यादा मालिकों पर मामला दर्ज किया है। शहर के झंडा चौक, झिंगाबाई टाकली, गोरेवाड़ा रिंग रोड आदि जगहों पर हुई कार्रवाई में कई बार मवेशी मालिकों द्वारा तनाव का माहौल बनाया गया था। लेकिन शहर पुलिस की मौजूदगी के कारण कार्रवाई पूरी की जा सकी।

उल्लेखनीय है कि शहर में तबेलों की संख्या देखें तो अधिकृत 5 सौ के करीब तबेले हैं।  अवैध तबेलों की संख्या भी कम नहीं है। जिसमें धरमपेठ जोन अंतर्गत 134 व आशीनगर जोन अंतर्गत 104 अवैध तबेले बने हैं। जिससे यहां रहनेवाले लोगों को तो परेशानी होती है, साथ ही इन तबेले मालिकों की लापरवाही सड़कों से गुजरनेवाले वाहनधारकों के जान पर भी बन जाती है। दरअसल, यह मवेशियों को लापरवाही के कारण खुला छोड़ देते हैं। जिससे मवेशी सड़कों पर आकर खड़े हो जाते हैं। इससे कई बार ट्रैफिक जाम की स्थिति बन जाती है।  कई बार तो मवेशियों के कारण गंभीर दुर्घटना भी होती है। इस संदर्भ में सूचना देने के बावजूद मवेशी मालिकों की ओर से कोई सुध नहीं ली जाती है।

मनपा का पशुविभाग जब इन पर कार्रवाई करता है, तो मवेशी मालिक कई बार गालीगलौच कर कर्मचारियों से झगड़ा भी कर लेते हैं। ऐसी स्थिति को नियंत्रित करने के लिए मनपा के पशुविभाग ने शहर पुलिस की मदद लेनी शुरू कर दी। उक्त जगहों पर की कार्रवाई में मानकापुर पुलिस स्टेशन के पीआई वजीर शेख ने उपस्थिति दिखाते हुए कार्रवाई को अंजाम दिया। इस वक्त उनके साथ सिपाही अरूण चिखले, सुनील बैस, मिना म्हस्के, पुष्पा आदि थें। इसके अलावा यातायात विभाग के सहायक पुलिस निरीक्षक फर्नांडीस की मौजूदगी भी रही। मनपा के पशुविभाग के अधिकारी डॉ. महल्ले आदि ने मिलकर दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक कार्रवाई करना शुरू किया। जिसमें पहले झंडा चौक से झिंगाबाई टाकली से रिंग रोड व यहां से मानकापुर फ्लाइओवर ब्रिज से गोरेवाड़ा शिव मंदिर तक कुल 18 मवेशियों को हिरासत में लेकर कांजीहाउस भेजा गया है। वहीं इनके मालिकों पर भी मामले दर्ज किये गए हैं। पुलिस की मदद से इसी तरह अब नियमित तौर पर कार्रवाई की जाएगी। कई बार कार्रवाई के दौरान कई मवेशी मालिक झगड़े पर उतारू हो जाते हैं। ऐसे में शहर पुलिस के सहयोग से कार्रवाई करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। गजेन्द्र महल्ले, पशुचिकीत्सक अधिकारी, मनपा

कमेंट करें
NvAqE