comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

बस की टक्कर से बाइक सवार की मौत, अज्ञात वाहन ने एक को उड़ाया

बस की टक्कर से बाइक सवार की मौत, अज्ञात वाहन ने एक को उड़ाया

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोंढाली-नागपुर मार्ग पर कोंढाली से 3 किमी दूर चमेली मंे शनिवार की सुबह करीब 8 बजे तेज रफ्तार ट्रैवल्स ने बाइक को टक्कर मार दी, जिससे मोटरसाइकिल चालक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के विरोध में ग्रामीणों ने ट्रैवल्स चालक की पिटाई कर चक्का जाम कर दिया। इससे करीब 2 घंटे तक यातायात बाधित रहा। महामार्ग के दोनों ओर 10 किमी तक वाहनों की लंबी कतारें लग गई थीं। पुलिस के अनुसार चमेली निवासी किसान प्रभाकर नामदेव सोनवने (45)  हरदोली शिवार स्थित खेत से मोटरसाइकिल क्रमांक एमएच- 40, के- 7795 से  संग्राम ढाबे पर दूध देने जा रहा था। तभी चमेली गांव के सामने पुणे से नागपुर की ओर आ रही  ट्रैवल्स क्रमांक ओडी- 17, जी-1538 के चालक ने ओवरटेक के चक्कर में बाइक को टक्कर मार दी। पीछे से टक्कर लगने के बाद प्रभाकर बाइक सहित ट्रैवल्स में फंस गया और काफी दूर तक घसीटता चला गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना का पता चलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे। नाराज ग्रामीणों ने ट्रैवल्स चालक फिरोज बागवान (45) मु.येड़सी, जिला उस्मानाबाद की जमकर पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। लोगों ने बस को भी क्षतिग्रस्त कर महामार्ग के दोनों लेन पर चक्का जाम कर दिया। लोगों ने बस को जलाने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन चमेली के ग्राम पंचायत सदस्य रामेश्वर वाघाड़े तथा काटोल पंचायत समिति के पूर्व उप सभापति योगेश चाफले ने उन्हें शांत कराया। कोंढाली थाने को बार-बार फोन करने के बाद भी घटना के करीब एक घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। कोंढाली के थानेदार श्याम गव्हाने ने नागरिकों को शांत करते हुए  यातायात सुचारु किया व शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।

वाहन से अज्ञात व्यक्ति की मौत

उधर कामठी के नये पुलिस थाना अंतर्गत आने वाले नागपुर-जबलपुर फोर लाइन हाईवे नेरी पुल समीप शुक्रवार की रात को एक अज्ञात वाहन ने एक व्यक्ति को टक्कर मार दी। हादसे में उस व्यक्ति की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। हालांकि मृतक की पहचान नहीं हो सकी। पुुलिस सूत्रों के मुताबिक 19 अक्टूबर की सुबह करीब 1.45 बजे  के आसपास नागपुर-जबलपुर फोर लाइन हाईवे नेरी पुल समीप 40 वर्षीय व्यक्ति को एक अज्ञात वाहन ने जबरदस्त टक्कर मार दी। जिससे उस व्यक्ति की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम हेतु उपजिला अस्पताल रवाना कर दिया। जानकारी के मुताबिक मृत की उम्र अंदाजन 40 वर्ष होकर उसने लाल रंग की टी शर्ट और चेक वाला बरमुंडा पहना हुआ था। पुलिस ने मामला दर्ज किया है। 

कमेंट करें
myx2l
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।