दैनिक भास्कर हिंदी: बर्ड फ्लू - मुर्गियों और प्रवासी पक्षियों की बीट के सैम्पल भेजेंगे भोपाल

April 3rd, 2020

डिजिटल डेस्क  कटनी । कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जारी एडवाइजरी के अनुसार लोग घरों में कैद हैं। इसे ईश्वरीय कृपा ही माना जाएगा कि अब तक जिले में कोरोना का कोई संदिग्ध भी नहीं मिला लेकिन वहीं पशु-पक्षियों में पार्वो वायरस और बर्डफ्लू कहर ने कहर बरपा दिया। रीठी क्षेत्र में एक साथ कौवों की मौत में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद अब पशु चिकित्सा विभाग की टीम मुर्गियों के सेम्पल लेने में जुटी है और प्रवासी पक्षियों की बीट एकत्र की जा रही है। बहोरीबंद क्षेत्र में पार्वो वायरस से बड़ी संख्या में डॉग की मौत ने दहशत फैला दी है। कौवों में बर्ड $ फ्लू की पुष्टि की रिपोर्ट मिलते ही जिला प्रशासन ने ब्लॉक स्तर पर रेफिड रिस्पांस टीम गठित की है।
रीठी में कौवों की मौत की पहली खबर दैनिक भास्कर ने 24 मार्च के अंक में प्रकाशित की थी। इसी के बाद प्रशासन सक्रिय हुआ और सेम्पल जांच के लिए कृषि अनुसंधान केन्द्र की हाईटैक एनिमल डिसीज लेबोटरी आनंदनगर हथाईखेड़ा भोपाल भेजे गए। जांच में बर्डफ्लू की पुष्टि होने एवं बुधवार को भारत सरकार के पशु पालन मंत्रालय का पत्र आते ही जिले में बर्ड फ्लू को लेकर हडक़म्प मच गया।
कन्ट्रोल रुम और आरआर टीम गठित
जिले में एवियन इन्फ्लूएन्जा (बर्ड फ्लू) रोग नियंत्रण के लिए जिला स्तरीय कन्ट्रोल रुम और विकासखण्ड स्तरीय रैपिड रिस्पॉन्स टीमें गठित कर दी गई हैं। उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें डॉ. आर.पी.एस. गहरवार ने बताया कि जिला स्तरीय टीम में डॉ. आर.के. सोनी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। कन्ट्रोल रुम से इस टीम के साथ डॉ. सोनी सहित डॉ. मनोज उर्मलिया, आर.पी. पाण्डेय, विमला महंत, ओम प्रकाश यादवए मुन्ना मलिक को शामिल किया गया है। विकासखण्ड स्तरीय टीम और कन्ट्रोल रुम के लिये कटनी विकासखण्ड में डॉ. गायत्री राज को नोडल बनाया गया है। रीठी विकासखण्ड के लिए डॉ. रवि कटारिया, ढीमरखेड़ा में डॉ. रवि कुमार सोनी, बहोरीबंद में डॉ. नेहा सुरेश्वर, बड़वारा में डॉ. एस.के. अहूजा और विजयराघवगढ़ विकासखण्ड में डॉ.जे.पी. लखरे को नोडल अधिकारी बनाया गया है।
आधा दर्जन विभागों को सौंपी जिम्मेदारी
बर्डफ्लू को लेकर कलेक्टर ने आधा दर्जन विभागों को जिम्मेदारी सौंपी है। उन्होने निर्देश दिए कि जिले में कहीं से भी पक्षियों या मुर्गियों की अप्राकृतिक या संदेहजनक मृत्यु पाए जाने पर उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें तत्काल कार्यवाही करें, सैम्पल जांच के लिये भेजें। पक्षियों या मुर्गियों में बीमारी की सूचना मिलने पर घटना के संबंध में विभाग के अधिकृत और जिम्मेदार अधिकारी ही मीडिया को जानकारी दें। जिले के स्वास्थ्य,  पशुपालन, वन, मत्स्य पालन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगर निगम, सिंचाई,लोक निर्माण, पुलिस और राजस्व तथा जनसम्पर्क विभाग को समन्वय बनाते हुए आउटब्रेक की स्थिति में भारत शासन के निर्देशों के अनुरुप कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
एक्शन मोड में आया प्रशासन
कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट शशिभूषण सिंह ने जिले के रीठी विकासखण्ड में 15 कौवों की मृत्यु की सूचना के बाद कलेक्टर ने एहतियात के रुप में (एवियन एनफ्लूएंजा) बर्ड फ्लू के बचाव और नियंत्रण के लिये भारत सरकार, मत्स्य, पशुपालन, डेयरी मंत्रालय के निर्देशों के अनुरुप कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने पशु पालन विभाग के सभी क्षेत्रीय अधिकारी, कर्मचारियों को कहा है कि रैपिड रिस्पॉन्स टीम का गठन कर तत्काल क्षेत्र के जलाशयों में प्रवासी पक्षियों के सैम्पल और आस-पास के ग्रामों में कुक्कुट के सैम्पल एकत्र कर परीक्षण हेतु भोपाल भेजे जाएं। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने अनुविभाग के पॉल्ट्री फॉर्म, बैकयार्ड में पशुपालन और राजस्व अधिकारियों के माध्यम से सतत् निगरानी रखें और बायो सिक्युरिटी मापदण्डों का पालन कराएं।
डॉग में भी फैला वायरस
बहोरीबंद क्षेत्र में डॉग में पार्वो वायरस के मामले सामने आए हैं। बताया जाता है कि पिछले दिनों इस क्षेत्र में डॉग की लगातार मौतें हुईं थी। लोग अपने पालतू डॉग का इलाज कराने जब पशु चिकित्सालय गए तब पार्वो वायरस का पता चला। वेटनरी विभाग की डॉ. नेहा सुरेश्वर ने बताया मौसम बदलने से डॉग में पार्वो वायरस का संक्रमण बढ़ जाता है। इससे बचाव के लिए लोगों को अपने पालतू डॉग का टीकाकरण कराना चाहिए।
इनका कहना है
रीठी में कौवों की मौत में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद पोल्र्टी फार्म से मुर्गियों एवं तालाबों में आने वाले प्रवासी पक्षियों के बीट के सैम्पल लिए जा रहे हैं। सैम्पल कलेक्ट करके भोपाल भेजे जाएंगे।
-डॉ.आर.के.सोनी, नोडल अधिकारी
 

खबरें और भी हैं...