दैनिक भास्कर हिंदी: शिवसेना को मुख्यमंत्री पद नहीं देगी भाजपा, फडणवीस बोले ये मेरे लिए है आरक्षित

September 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे और सत्ता में भागीदारी के 50-50 प्रतिशत का फार्मूला अपनाने की कोशिशों के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आए बयान से शिवसेना के उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट संकेत दिए हैं कि भाजपा अपने सहयोगी दल शिवसेना को मुख्यमंत्री पद नहीं देगी। हालांकि मुख्यमंत्री शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद देने के लिए तैयार हैं। शनिवार को एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में फडणवीस ने कहा कि मुख्यमंत्री पद मेरे लिए आरक्षित है। उन्होंने कहा कि हम शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद देने के लिए तैयार हैं। शिवसेना को फैसला करना है कि पार्टी उपमुख्यमंत्री पद अपने किस नेता को देती है। फडणवीस ने कहा कि भाजपा और शिवसेना सहयोगी दलों के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी। चुनाव बाद हम महायुति की सरकार बनाएंगे। फडणवीस ने कहा कि इसमें किसी को शक नहीं होना चाहिए कि मैं दोबारा मुख्यमंत्री बनूंगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे खुशी है कि युवासेना अध्यक्ष आदित्य ठाकरे राजनीति में सक्रिय हो रहे हैं। आदित्य को उपमुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री पद देने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फैसला शिवसेना को करना है।

पवार की राजनीति का युग खत्म 

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार के विपक्षी दलों के नेताओं को डर दिखाकर भाजपा में शामिल करने के बयान पर पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पवार की राजनीति का युग खत्म हो चुका है। समयचक्र की महिमा देखिए पवार ने अपने राजनीतिक जीवन में कई पार्टियों को तोड़ा और मोड़ा, नई पार्टी बनाई अब उनकी पार्टी के साथ भी वही हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पवार डर दिखाने की राजनीति करते थे इसलिए उन्हें लगता है कि भाजपा उन्हीं की तरह राजनीती करेगी। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि उनकी और हमारी राजनीति में बहुत अंतर है। 

कृपाशंकर के लिए आसान नहीं भाजपा की राह 

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले प्रदेश के पूर्व गृह राज्य मंत्री कृपाशंकर सिंह के लिए भाजपा की राह आसान नजर नहीं आ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंह के भाजपा में प्रवेश करने के बारे में मेरी उनसे अभी तक कोई चर्चा नहीं हुई है। अगर मैं उनके बारे में कुछ कहूंगा तो वे बोलेंगे कि आपने अपने आप ही फैसला घोषित कर दिया। इसलिए मैं मानता हूं कि सही समय पर उचित फैसला होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का समर्थन किया है। उनके समर्थन की भूमिका भाजपा के रूख से मेल खाती है। 
 

खबरें और भी हैं...