दैनिक भास्कर हिंदी:  ब्लैक स्पॉटचिह्नित किए, सुधार नहीं हुआ, हाइवे पर ट्रेफिक चौगुना हुआ

June 24th, 2020

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिले में हाइवे निर्माण के बाद लगातार दुर्घटनाओं के सामने आने पर प्रशासन ने ब्लैक स्पॉट तो चिन्हित सुधार के लिए प्रस्ताव भी तैयार किए गए। जिला यातयात समिति की बैठकों में सुधार पर चर्चाएं भी हुईं लेकिन हाइवे पर दुर्घटनाएं नहीं रुक पाई हैं। जिले में करीब 29 ब्लैक स्पॉट चिन्हित किए गए थे। यातायात विभाग, परिवहन विभाग और एनएचएआई को मिलकर ब्लैक स्पॉटों को खत्म करने का जिम्मा था। बस पलटने के बाद नरसिंहपुर मार्ग पर दूल्हादेव घाटी में रैलिंग तो लगा दी गई लेकिन बाकी स्पॉट पर उतनी गंभीरता नहीं दिखाई गई है। इधर प्रशासन का दावा है कि 29 में से 21 ब्लैक स्पॉट को जरूरत के मुताबिक सुधार कार्य के बाद खत्म कर दिया गया है। परासिया रोड के 6 स्पॉट पर जरूर काम होना है। उक्त मार्ग के चौड़ीकरण के प्रपोजल के कारण यहां काम नहीं हो सका है।
वर्तमान में ये दो स्पॉट जो खतरनाक साबित हो रहे:
रामगढ़ी: यहां रिंग रोड से आने वाले वाहन लेफ्ट टर्न के बजाए सीधे राइट टर्न लेकर सिवनी की ओर जाने की कोशिश करते हैं। जिससे यहां अक्सर दुघर्टनाओं की स्थिति बनती है। 4 मार्च को उक्त स्पॉट पर कार और ट्रैक्टर की भिड़ंत में यहां एक महिला की मौत हो गई थी। जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। इससे पहले भी यहां वाहनों की टक्कर की स्थितियां सामने आ चुकी है। उक्त स्पॉट को ब्लैक स्पॉट में तो रखा गया लेकिन सुधार नहीं हो सका है।
सिल्लेवानी घाटी: जिले के ब्लॉक स्पॉट की सूची में हाइवे 547 की सिल्लेवानी घाटी भी है। यहां करीब 35 वें किमी पर पिछले साल बारिश में भू-स्खलन से सड़क धंस गई है। 10 मीटर चौड़ा हाइवे करीब 5 मीटर का बचा है। वर्तमान में हेवी वाहनों के ट्रेफिक का दबाव बढ़ गया है। जबकि सुधार कार्य अब तक नहीं हो पाया है। तकनीकी जानकारों का कहना है कि फिर बारिश शुरू हो गई है। भू-स्खलन जारी रहा तो दुर्घटना के साथ हाइवे पर आवागमन बंद हो सकता है।
टोल के आंकड़े... 4 हजार से ज्यादा वाहन गुजर रहे:
नेशनल हाइवे 547 और 347 के चार टोल नाकों के आंकड़ों प
र गौर किया जाए तो प्रतिदिन 4 हजार से अधिक वाहन गुजर रहे हैं। सिवनी-नागपुर मार्ग पर आवागमन बंद होने की वजह से छिंदवाड़ा-सावनेर हाइवे पर ट्रैफिक चौगुना तक बढ़ गया है। जबलपुर, सिवनी और नरसिंहपुर की ओर से हेवी वाहनों का ट्रेफिक बढ़ा है। जबकि यहां की सड़कों की हालत पहले ही खराब है। मरम्मत के बाद भी नरसिंहपुर हाइवे उधड़ चुका है।
इनका कहना है...
पूर्व में 29 ब्लैक स्पॉट चिन्हित किए गए थे। जिसमें सुधार का कार्य एनएचएआई कर रहा है। अब तक 21 स्पॉट पर सुधार कार्य हो चुका है। रामगढ़ी में रंबल स्ट्रिप लगाई जानी है। वल्र्ड बैंक की टीम का भी यहां विजिट कराया गया है। फिलहाल दुघर्टनाएं न हो इसलिए तीन पुलिस कर्मियों का पाइंट लगाया गया है।
- सुदेश सिंह, डीएसपी, यातायात