• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Bodies of all 16 workers killed in Aurangabad accident reached Shahdol, officials reached village of dead

दैनिक भास्कर हिंदी: औरंगाबाद हादसा में मृत सभी 16 श्रमिकों के शव शहडोल पहुंचे , वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे मृतकों के गांव 

May 9th, 2020

डिजिटल डेस्क शहडोल । औरंगाबाद ट्रेन  हादसे के सभी 16 मृतकों के शव शनिवार दोपहर उमरिया और शहडोल पहुंचे।   विशेष ट्रेन से शव को औरंगाबाद से यहां लाया गया। इनमें पांच शव उमरिया में उतारे गए और 11 शव शहडोल में। प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में शवों को ट्रेन से उतरवाकर एंबुलेंस से गांव के लिए रवाना किया गया। इससे पहले पूरे रेलवे स्टेशन को करीब एक घंटा तक सैनेटाइज किया गया था। रेलवे पुलिस, जिला पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पूरे समय स्टेशन में मौजूद रहे। 
एडीजीपी सहित तमाम अधिकारी भी अंतौली रवाना
शवों के साथ ही स्टेशन से एडीजीपी जी. जनार्दन, डीआईजी जीएस उइके, विधायक शरद कोल, कलेक्टर डॉ. सतेंद्र सिंह, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला गांव के लिए रवाना हो गए। शहडोल कमिश्नर डॉ. अशोक भार्गव भी जयसिंहनगर पहुंच गए हैं। ये सभी ग्राम अंतौली जाएंगे और मृतकों के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। इससे पहले स्टेशन में सांसद हिमाद्री सिंह, विधायक जय सिंह मरावी और नगर पालिका अध्यक्ष उर्मिला कटारे सहित काफी संख्या में पुलिस बल और स्थानीय लोग मौजूद थे। 
उमरिया के पांच 
    उमरिया में दोपहर करीब सवा दो बजे ट्रेन पहुंची। इससे पहले ही स्टेशन में कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी, एसपी सचिन शर्मा और रेलवे पुलिस चौकी प्रभारी डीके सिंह सहित तमाम अधिकारी पहुंच गए थे। मृतकों के अंतिम दर्शन करने जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानवती सिंह भी स्टेशन पहुंची। अन्य लोगों को स्टेशन के बाहर ही रोक दिया गया था। एक एंबुलेंस में बीगेंद्र सिंह, प्रदीप सिंह, नेमशाह सिंह और मुनीम सिंह के शव ममान पाली भेजे गए। इस एंबुलेंस में ही हादसे में जीवित बचे बीगेंद्र ङ्क्षसह के भाई वीरेंद्र सिंह को भेजा गया। वीरेंद्र सिंह शवों के साथ ही टे्रन से पहुंचा था। वहीं अच्छेलाल काछी का शव दूसरे एंबुलेंस से चिल्हारी मानपुर रवाना किया गया। उमरिया से रवाना होने के बाद ट्रेन दोपहर बाद करीब 3.45 बजे शहडोल पहुंची, स्टेशन में करीब एक घंटा पहले से ही एडीजीपी जी. जनार्दन, डीआईजी जीएस उइके, कलेक्टर डॉ. सतेंद्र सिंह, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला, रेलवे सुरक्षा आयुक्त ऋषि शुक्ला सहित पुलिस, प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। वहीं स्टेशन परिसर के भीतर ही पांच एंबुलेंस खड़े थे। जैसे ही ट्रेन पहुंची पीपीई किट पहने तैयार खड़े नगर पालिका के कर्मचारियों ने शवों को एंबुलेंस रखा। यहां से धन सिंह, दीपक सिंह, बुद्धराज सिंह, शिवदयाल सिंह, धर्मेंद्र सिंह, निर्मेश सिंह, रावेंद्र सिंह, राजबहोरन और सुरेश सिंह के शवों को ग्राम अंतौली रवाना किया गया। जबकि संतोष नापित का शव बैरिहा टोला और बृजेश सिंह के शव में एंबुलेंस में शहरगढ़ के लिए रवाना किया गया। गौरतलब है कि औरंगाबाद के पास शुक्रवार तड़के हुए ट्रेन हादसे में 16 लोगों की मौत हो गई थी। ये सभी श्रमिक शहडोल और उमरिया जिले के थे। शहडोल जिले के 11 और उमरिया जिले के पांच श्रमिकों की हादसे मे मौत हुई थी।