दैनिक भास्कर हिंदी: बोगस बीज ने किसान को संकट में डाला, रोपाई की तो उग आया काला लंबा धान

September 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, गोंदिया। किसान द्वारा धान के बीज से नर्सरी तैयार कर धान की रोपाई की गई लेकिन जब फसल तैयार होने का समय आया तो धान  के पौधों में ठोस धान की बजाए काला लांबा (खोखला धान) उग आया है। यह मामला सड़क अर्जुनी तहसील अंतर्गत  ग्राम पाटेकुर्रा निवासी किसान देवलाल अनंतराम कटरे के  खेत में सामने आया है। जिससे किसान  परेशान हो गया है। उसने प्रशासन से मांग की है कि बीज की जांच कर उसे नुकसान भरपाई दी जाए।  हर वर्ष कृषि केंद्रों से किसानों द्वारा खरीदी गई धान के बीज में उनके साथ ठगी के मामले सामने आते हैं ।  किसानों के साथ हो रही ठगी की शिकायत मिलने के बावजूद प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं देने से किसानों में नाराजगी देखी जा रही है। 

इस संदर्भ में जानकारी मिली है कि पाटेकुर्रा निवासी किसान देवलाल कटरे ने ग्राम डव्वा स्थित तिरुपति कृषि सेवा केंद्र से बायर कंपनी की ६444 नामक धान प्रजाति के बीज खरीदे थे। 18 किलो ग्राम बीज की रोपाई 3 एकड़ खेत में की गई। 140 दिन के बाद  धान को बालियां लगनी शुरू हुई। किन्तु धान के बजाए काला लांबा (खोखला धान) उग आया। 80 प्रतिशत धान के बजाए काला लांबा की बालियां उग आने से किसान सकते में आ गया। पूरे खेत में धान की फसल के बजाए अलग किस्म का ही धान उग आने से किसान को लाखों रुपए का नुकसान सहना पड़ेगा। इस बीज कंपनी के धान  बीज की जांच कर नुकसान भरपाई देने की मांग किसान देवीलाल कटरे ने की है। देवीलाल कटरे ने बताया कि इस मामले की शिकायत कृषि केंद्र व तहसील कृषि अधिकारी से  की जाएगी। बता दें कि इसके पूर्व भी अनेक बीज कंपनियों द्वारा घटिया दर्जे के बीजों के माध्यम से किसानों को धोखा देने के मामले सामने आ चुके हैं। 

कंपनी को देंगे जानकारी

उपरोक्त किसान ने हमारे यहां  से धान के बीज की खरीदी की, हालांकि किसान की शिकायत अब तक हमें प्राप्त नहीं हुई है।  शिकायत मिलते ही कंपनी को इस मामले से अवगत कराकर जांच करने की मांग की जाएगी।  पीड़ित किसान को नुकसान भरपाई देने की सिफारिश भी की जाएगी।
पंकज अग्रवाल,संचालक, तिरुपति कृषि सेवा केंद्र, डव्वा
 

खबरें और भी हैं...