• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Brainstorming on crime control with training in marathon crime meeting that lasted for nine hours

हर थाने में बनेगा मिनी सायबर सेल: नौ घंटे तक चली मैराथन क्राइम मीटिंग में प्रशिक्षण के साथ अपराध नियंत्रण पर हुआ मंथन

May 20th, 2022

डिजिटल डेस्क, शहडोल। पुलिस की क्राइम मीटिंग गुरुवार को नौ घंटे तक चली। कलेक्ट्रेट सभागार में सुबह 10 से शाम 7 बजे तक चली मैराथन मीटिंग में जहां जिले में अपराध नियंत्रण की गतिविधियों पर चर्चा और निर्देश जारी हुए, वहीं कुछ नई सुविधाओं और संसाधनों पर कार्य शुरु कराने पर चर्चा हुई। बैठक में पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी के अलावा एडीजी डीसी सागर, कलेक्टर वंदना वैद्य, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ.मिलिंद सिरालकर व फारेंसिंग चिकित्सक भी पहुंचे और विषय वस्तु को लेकर पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया। 

बैठक के दौरान बढ़ते सायबर अपराधों पर गहन चर्चा व विचार विमर्श किया गया। निर्णय लिया गया कि बहुत शीघ्र जिले के प्रत्येक थानों में मिनी सायबर सेल बनाया जाएगा। ताकि पीडि़तों को जिला मुख्यालय तक न आना पड़े। इसको लेकर संबंधितों को प्रशिक्षण दिलाया गया। इसके अलावा ई-चालान प्रक्रिया जिले में भी शीघ्र चालू की जाएगी। ताकि चालान की राशि जमा करने में आसानी हो और लोगों को परेशानी न हो। शराब की अवैध बिक्री को लेकर बैठक में चर्चा हुई। पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों से स्पष्ट रूप से कहा कि पैकारी प्रथा पूर्णत: बंद होनी चाहिए। निर्धारित शराब की दुकानों के अलावा कहीं भी शराब की बिक्री नहीं होनी चाहिए।

कलेक्टर वंदना वैद्य ने कहा कि आने वाले नगरीय निकाय व पंचायत चुनाव किसी चैलेंज से नहीं है। कानून व्यवस्था को लेकर मंथन किया गया। वहीं मेडिकल कॉलेज के फारेंसिंक एक्सपर्ड डॉ.वानखेड़े ने पोस्टामर्टम व अन्य आवश्यक बातों के बारे में बताया, जो पुलिस विवेचना के लिए आवश्यक होते हैं। बैठक में जिले के अपराध, प्रतिबंधात्मक कार्यवाही, ई-चालान, आईरेड-एप, अबैध शराब एवं मादक पदार्थों की तस्करी, सीएम हेल्पलाईन, शिकायत निराकरण, सायबर अपराध, सायबर जागरूकता की समीक्षा व लंबित प्रकरणो के त्वरित निराकरण हेतु निर्देशित किया गया। 
 

खबरें और भी हैं...