दैनिक भास्कर हिंदी: जब तक नई खेप नहीं तब तक के लिए टीकाकरण पर ब्रेक - कई केंद्रों में गुरुवार को समय से पहले ही खत्म हो गई वैक्सीन 

June 11th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर । जिले में चल रहे कोरोना टीकाकरण अभियान की गति पर विराम लग गया है। जिले में उपलब्ध वैक्सीन का स्टॉक गुरुवार को समय से पहले ही खत्म हो गया। वैक्सीनेशन केंद्रों पर टीका न होने से हितग्राही निराश होकर लौट गए, खासतौर पर शहरी केंद्रों पर टीका लगवाने के लिए जिन्होंने स्लॉट बुक कराया, उनमें से कई हितग्राहियों को वैक्सीन नहीं मिली। कुछ को वैक्सीन खत्म होने का हवाला देकर लौटा दिया गया तो कुछ केंद्रों पर समय से पहले ही ताले लग गए। लोग एक सेंटर से दूसरे सेंटर भटकते रहे, लेकिन दोपहर बाद लगभग कहीं भी टीका नहीं लग सका, जिसके चलते हितग्राहियों में भारी नाराजगी देखने मिली। सबसे ज्यादा परेशानी सीनियर सिटीजन्स को उठानी पड़ी, जो अपना दूसरा डोज लेने घर से निकले थे। बुकिंग के बाद भी टीका न मिल पाने से आहत लोगों ने इसकी शिकायत अपने-अपने स्तर से अधिकारियों तक पहुँचाई, हालाँकि इसके बाद भी निराकरण नहीं हो सका। होता भी कैसे? जब वैक्सीन ही नहीं थी। गुरुवार को 113 केंद्रों पर 15 हजार 709 टीके ही लग सके, जबकि शुरुआती टारगेट 21 हजार 300 था। वैक्सीन की उपलब्धा देखते हुए टारगेट 17 हजार 410 कर दिया गया। 
स्टॉक खत्म करने के निर्देश 
जिले में गुरुवार को वैक्सीन के करीब 17 हजार डोज ही बचे थे। जानकारी के अनुसार भोपाल से मिले निर्देश के बाद वैक्सीन का बचा हुआ स्टॉक खत्म कर दिया गया। अधिकारियों का कहना है कि यह निर्देश राज्य स्तर पर जारी किए गए हैं।  वहीं आज शुक्रवार को रेगुलर वैक्सीनेशन डे होने के कारण कोरोना टीकाकरण नहीं होगा।   
नई खेप आई तो पहले सेकेंड डोज  - टीके की नई खेप आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की तैयारी पहले उन लोगों को टीका देने की है, जिन्हें पहला डोज लग चुका है। जिसका मतलब यह है कि संभवत: अब कुछ दिनों तक केवल सेकेंड डोज दिए जाएँगे। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने अलग-अलग केंद्रों के उन हितग्राहियों की लिस्ट भी मँगा ली है, जिन्हें सेकेंड डोज दिया जाना है। लिस्ट मिलने के बाद मैसेज एवं फोन के माध्यम से हितग्राहियों को केंद्रों पर बुलाया जाएगा। यह पूरी कवायद टीके का संपूर्ण कवच देने के लिए की जा रही है।
इनका कहना है
भोपाल से मिले निर्देशों के अनुसार गुरुवार को बची हुई वैक्सीन लगाई गई। जैसे ही नए डोज मिलेंगे, वैक्सीनेशन प्रोग्राम फिर शुरू होगा। निर्देशों के अनुसार सेकेंड डोज लगाने पर प्राथमिकता होगी। 
-डॉ. एसएस दाहिया  जिला टीकाकरण अधिकारी   

खबरें और भी हैं...