comScore

बाथरूम की खिड़की से पेट्रोल डालकर युवती को जिदा जलाया,मौत - आरोपी भी झुलसा

बाथरूम की खिड़की से पेट्रोल डालकर युवती को जिदा जलाया,मौत - आरोपी भी झुलसा

डिजिटल डेस्क शहडोल । एक सनकी युवक ने बाथरूम की खिड़की से पेट्रोल डालकर अंदर नहा रही युवती को जिंदा जलाकर मौत के घाट उतार दिया। इसमें आरोपी भी झुलस गया और पुलिस की पकड़ में आ गया। यह सनसनीखेज मामला जिले के सिंहपुर थाना क्षेत्र थानांतर्गत ग्राम उधिया में सामने आया है। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक के साथ एफएसएल टीम मौके पर पहुंची और जायजा लेकर परिजनों से पूछताछ किया। मौके से पेट्रोल लाने में उपयोग किया हुआ डिब्बा और जले हुए कपड़े बरामद हुए हैं। युवक ने ऐसा कदम क्यों उठाया इसकी पुलिस जांच कर रही है। आरोपी के विरुद्ध धारा 307 प्रकरण दर्ज कर विवेचना की जा रही है।
दीवार फांद कर भीतर घुसा आरोपी
दोपहर करीब 12 बजे 22 वर्षीय युवती घर के बाथरूम में नहाने गई थी। उसी समय गांव का ही आरोपी विजय कुमार यादव 25 वर्ष पिता राजेन्द्र प्रसाद यादव घर से लगी स्कूल की दीवार फांदकर भीतर पहुंचा और खिड़की से पेट्रोल उड़ेल माचिस से आग लगा दिया। पेट्रोल की आग से बाथरूम के अंदर मौजूद युवती जलने लगी, उधर बाहरी हिस्से में भी पेट्रोल बहने से आग की लपटें आरोपी तक पहुंच गई। जिससे वह भी जलने लगा।
परिजनों ने तोड़ा दरवाजा
युवती की चीख पुकार सुनकर घर के लोग दौड़े। बाथरूम के भीतर से धुआ उठते देख घबरा गए। बड़ी मुश्किल से दरवाजा तोड़ा गया। युवती आग की लपटों से घिरी बाहर की ओर दौड़ी। घर वालों ने पानी डाला और कंबल से आग बुझाई। इसके बाद डायल 100 को सूचना दी गई। जिन्होंने सिंहपुर थाने को जानकारी दी। डायल 100 वाहन से घायल युवती को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां युवती की मौज हो गई ।
बुढ़ार अस्पताल पहुंचा आरोपी
युवती को जलाने के प्रयास में आरोपी के कपड़ों पर भी आग लग गई। वह दीवार फांदकर भागा, जिसे कुछ लोगों ने देख लिया। पीछा भी किया लेकिन पकड़ में नहीं आया। इस बीच पता चला कि आरोपी युवक बाइक से बुढ़ार अस्पताल पहुंच गया। अस्पताल से सिंहपुर पुलिस को सूचना दी गई। आरोपी को बुढ़ार से जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया। यहां पुलिस सुरक्षा के बीच भर्ती कराया गया है।
इनका कहना है
 आरोपी ने पेट्रोल से युवती को जलाने का प्रयास किया, इस प्रयास में वह भी झुलस गया है।  धारा 307 का प्रकरण दर्ज कर विवेचना की जा रही है।
सत्येंद्र शुक्ला, पुलिस अधीक्षक शहडोल

कमेंट करें
kPy2r