comScore

संतान प्राप्ति की दवा देकर दंपति को बेहोश कर नकदी समेत उड़ा ले गए जेवरात

संतान प्राप्ति की दवा देकर दंपति को बेहोश कर नकदी समेत उड़ा ले गए जेवरात


डिजिटल डेस्क पांढुर्ना/छिंदवाड़ा। संतान प्राप्ति की दवा देने के बहाने एक शातिर लुटेरे ने शहर के राधाकृष्ण वार्ड में रहने वाले नि:संतान दंपति को नशीली दवा खिलाकर बेहोश कर दिया और उनके घर से नकदी समेत सोने-चांदी के महंगे आभूषण उड़ा लिए। यह घटना शनिवार की रात करीब 10.30 बजे हुई, जिसके बाद से रविवार की सुबह तक दंपति घर में ही बेहोश पड़े रहे।
मिली जानकारी के अनुसार राधाकृष्ण वार्ड में रहने वाले लक्ष्मीकांत उर्फ गोलू पिता विनायक उमाठे (45) घर के सामने ही बालाजी ज्वेलर्स के नाम से सोने-चांदी के आभूषण की दुकान चलाते है। वहीं उनकी पत्नी वैष्णवी घर पर ही सौंदर्य ब्यूटी पार्लर चलाती है। रविवार की सुबह उनके पड़ोस में रहने वाली सुनिताबाई उमाठे जब फूल लेने लक्ष्मीकांत के घर पहुंची तो दोनों पति-पत्नी बेहोशी की हालत में पड़े दिखे। आवाज लगाने पर दोनों के नही उठने पर यह बात सुनिताबाई ने तत्काल अन्य लोगों को दी। जिसके बाद इसकी सूचना पुलिस को भी देते हुए दंपति को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया।
संतान प्राप्ति की दवा देने आए संदिग्ध पर पूरा शक
 बताया जा रहा है कि लक्ष्मीकांत और वैष्णवी की शादी को करीब सत्रह साल होने के बावजूद वे नि:संतान है। जिसके चलते वे यवतमाल में रहने वाले अपने भाई के जरिए एक ईरानी चिकित्सक से संतान प्राप्ति की दवा ले रहे है। शनिवार की रात घटना के पहले करीब 10.30 बजे साढ़े पांच फीट का एक लंबा आदमी लक्ष्मीकांत के घर आया था। संभवत: उसी ने दोनों को संतान प्राप्ति की दवा देने के बहाने नशीली दवा खिलाकर बेहोश किया और शरीर पर मौजूद आभूषणों के साथ अन्य सारा माल साफ कर लिया। चूंकि लक्ष्मीकांत ज्वेलर्स संचालक है, तो दुकान के सोने-चांदी के आभूषण भी घर पर ही थे। वह भी संदिग्ध आरोपी ने लूट लिए।
दो दिन पहले भी पांढुर्ना आया था यह आदमी
दंपति को बेहोश कर लूट को अंजाम देने वाला संदिग्ध आदमी दो दिन पहले भी पांढुर्ना आया था। घटना वाले दिन शनिवार को संदिग्ध आदमी लक्ष्मीकांत उमाठे का घर पूछते हुए मोहल्ले में घूम रहा था। इस दौरान वह मोहल्ले में ही रहने वाले एक अन्य लक्ष्मीकांत पिता रमेशचंद्र उमाठे के घर पहुंच गया था। तब उन्होंने आगे की गली में सौंदर्य ब्यूटी पार्लर वाले मकान में जाने कहा था। लक्ष्मीकांत ने बताया कि दो दिन पहले यह व्यक्ति पांढुर्ना आया था और उससे जैस्वाल ज्वेलर्स के पास मुलाकात भी हुई थी। इस तथ्य के आधार पर पुलिस ने जैस्वाल ज्वेलर्स में लगे सीसीटीवी से भी संदिग्ध के सुराग जुटा लिए है। जिसके आधार पर उसकी तलाश शुरू कर दी है।
इनका कहना:
यह मामला जहरखुरानी कर ठगी का है। संदिग्ध व्यक्ति जाते-जाते फरियादी का मोबाइल भी ले गया। जिसके आधार पर उसकी आखरी लोकेशन मिली है। फरियादी के भाई से संदिग्ध के अन्य मोबाइल नंबर लेकर उसका पता लगाया जा रहा है। संदिग्ध के शीघ्र ही पकड़े जाने की उम्मीद है।
-अरविंद जैन, टीआई, पुलिस थाना पांढुर्ना

कमेंट करें
RWbMg