• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Campaign to increase vaccination will start in Maharashtra, 15 lakh vaccines will be taken every day

मिशन कवच कुंडल : टीकाकरण बढ़ाने महाराष्ट्र में शुरु होगा अभियान, हर रोज लगेंगे 15 लाख टीके 

October 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाविकास आघाड़ी सरकार ने कोरोना के टीकाकरण की गति को बढ़ाने के लिए प्रदेश में ‘मिशन कवच कुंडल’ अभियान चलाने का फैसला किया है। प्रदेश में मिशन कवच कुंडल अभियान 8 से 14 अक्टूबर के बीच चलाया जाएगा। गुरुवार को प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इस अभियान की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत प्रतिदिन कम से कम 15 लाख टीके लगाने का लक्ष्य है। राज्य में फिलहाल 75 लाख टीके उपलब्ध हैं। जबकि जल्द ही और 25 लाख टीके मुहैया करा दिए जाएंगे। इस अभियान के जरिए 1 करोड़ टीका लगाने की योजना है। टोपे ने कहा कि अभियान के तहत भिखारी, अनाथ और बुजुर्गों का यदि पहचान पत्र नहीं होगा तो भी उन्हें टीका लगाया जा सकेगा। यदि कहीं पर इंटरनेट की सुविधा नहीं होगी तो वहां पर ऑफलाइन पंजीयन के जरिए टीका लगाने को कहा गया है। टीका लगने के 24 घंटे के भीतर उनका कोविड एप पर पंजीयन ऑनलाइन कर दिया जाएगा।

टीके को लेकर अब भी गलतफहमी

टोपे ने कहा कि राज्य में समाज के कुछ वर्गों में टीकाकरण को लेकर अब भी गलतहफमी है। इसलिए राज्य के मालेगांव समेत अन्य मुस्लिम बहुल इलाकों में धर्म गुरुओं के जरिए टीकाकरण के बारे में जागरूकता फैलाई जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने महाराष्ट्र से इस अभियान में बड़ी भागीदारी निभाने की अपेक्षा व्यक्त की है। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने मिशन कवच कुंडल अभियान चलाने का फैसला किया है। टोपे ने कहा कि दीपावली के त्यौहार के बाद कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। इसलिए टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। टोपे ने कहा कि अभियान को सफल के लिए स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, स्कूली शिक्षा विभाग, महिला व बाल विकास विभाग और ग्रामीण विकास विभाग की मदद ली जाएगी। इसके अलावा निजी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा। टोपे ने कहा कि अहमदनगर में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग को विश्वास है कि स्थिति को जल्द ही काबू कर लिया जाएगा।

पूरा हो चुका है 30 फीसदी लोगों का टीकाकरण 

टोपे ने बताया कि प्रदेश में 9 करोड़ 15 लाख लोगों को टीका लगाना है। राज्य में लगभग 6 करोड़ लोगों को टीके की एक खुराक दी जा चुकी है। जबकि 3 करोड़ 15 लाख लोगों को टीके की पहली खुराक देना बाकी है। वहीं 2.50 करोड़ लोगों की टीके की दोनों खुराक पूरी हो चुकी है। राज्य में 65 प्रतिशत लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है। जबकि 30 प्रतिशत लोगों की टीके की दोनों खुराक मिल चुकी है।  


 

खबरें और भी हैं...