दैनिक भास्कर हिंदी: खूंखार नक्सली बसवराज समेत 40 पर अपराध दर्ज

May 4th, 2019

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। कुरखेड़ा तहसील के जांभुलखेड़ा-लेंढ़ारी मार्ग पर नक्सलियों द्वारा किए गए भूसुरंग विस्फोट में शहीद हुए 15 जवानों के मामले में पुराड़ा पुलिस ने सीपीआई (माओवादी) के मुखिया नंबाला केशवराव उर्फ बसवराज समेत तकरीबन 40 नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। शनिवार को नक्सलसेल के पुलिस उपमहानिरीक्षक अंकुश शिंदे व पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने दोबारा घटनास्थल को भेंट देकर स्थिति का जायजा लिया। वहीं सुरक्षा की दृष्टि से जिले की सारी सीमाओं को सील करने का आदेश देते हुए नक्सल खोज मुहिम को अधिक तेज कर दिया गया है। 

इस संदर्भ में पुराड़ा पुलिस थाना के थानेदार महल्ले ने दैनिक भास्कर को बताया कि ब्लास्टिंग की घटना में सीपीआई (माओवादी) के मुखिया बसवराज समेत पूर्व मुखिया गणपति, नक्सलियों के केंद्रीय मिलिटरी कमीशन के सदस्य वेणुगोपाल, भीमा कोरेगांव के सूत्रधार मिलिंद तेलतुंबडे, के. सुदर्शन, नक्सलियों के उत्तर गड़चिरोली विभाग का प्रमुख भास्कर समेत टिप्पागढ़ नक्सली दलम के कुल 40 नक्सलियों के खिलाफ धारा 302 , 353 , 143 , 147 , 148  और 427  के तहत अपराध दाखिल किया गया है। नक्सलियों की कंपनी क्रमांक 4 के नक्सलियों द्वारा की गयी नियोजनबध्द योजना के चलते नक्सलियों ने इस बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। 

पांचवें दिन भी पुलिस अधिकारी नहीं पहुंचे दादापुर 
मंगलवार की रात नक्सलियों द्वारा एक साथ 27 वाहनों को आग के हवाले करने के बाद समूचा दादापुर दहशतजदा है। गांव के चप्पे-चप्पे पर नक्सलियों द्वारा लगाए गए बैनर अग्नितांडव की आज भी गवाही दे रहे है। घटना के चलते शनिवार को भी कुछ ग्रामीणों ने गांव से पलायन किया। पूरी तरह दहशत में अपना जीवनयापन कर रहे शेष ग्रामीणों के दहशत को कम करने के लिए पांचवें दिन भी पुलिस विभाग के कोई आला-अधिकारी दादापुर पहुंच नहीं पाए हैं। बता दें कि, शनिवार को नक्सलसेल के पुलिस उपमहानिरीक्षक शिंदे व पुलिस अधीक्षक बलकवडे ने जांभुलखेड़ा घटनास्थल को भेंट दी। लेकिन उन्होंने समीपस्थ दादापुर को भेंट नहीं दी जिससे आश्चर्य व्यक्त हो रहा है।