दैनिक भास्कर हिंदी: पहले बहू की शिकायत पर ससुर पर दर्ज था प्रकरण, अब बहू के खिलाफ शिकायत

January 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  वाड़ी के सराफा व्यापारी सुरेश गुरव पर उनकी बहू अश्विनी की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। करीब चार माह बाद अब पुलिस उपायुक्त विवेक मासाड के आदेश पर पुलिस ने अश्विनी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। इस प्रकरण को लेकर सुरेश गुरव ने मुख्यमंत्री, पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त, पुलिस उपायुक्त और एसीपी के पास शिकायत की थी। 

पुलिस उपायुक्त मासाड ने मामले की छानबीन करने का आदेश दिया था। उसके बाद गुरव की बहू अश्विनी संदीप गुरव पर वाड़ी पुलिस ने गत 30 दिसंबर 2019 को धारा 294, 504, 323 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सुरेश गुरव के पुत्र संदीप गुरव की मृत्यु 12 अगस्त 2017 को हुई थी। बेटे की मौत  के बाद बहू अश्विनी अपने बच्चों को लेकर घर में अलग रहने लगी। 6 अगस्त 2019 को अश्विनी ने अपने देवर पवन गुरव की 2 दुकान का ताला तोड़कर उस पर भी कब्जा कर लिया। इस बारे में उनके किराएदार प्रदीप गुप्ता ने जब सुरेश गुरव को जानकारी दी तो सुरेश घटनास्थल पर पहुंचे।

पुलिस को सूचना देने के बाद जब वाड़ी पुलिस घटनास्थल पर नहीं आई, तब सुरेश वाड़ी थाने में गए। सुरेश वाड़ी पुलिस को अपनी कार में बैठाकर दुकान ले गए व बताया कि, 1 व 2 नंबर की दुकान पवन की है। संदीप की 3 व 4 नंबर की दुकान है। चारों दुकानों के ताले अश्विनी ने तोड़ दिए थे। लेकिन पुलिस ने अश्विनी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए सुरेश पर ही मामला दर्ज किया था। सुरेश की थाने में कोई सुनवाई नहीं होने पर उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के पास शिकायत की थी।

अपनी शिकायत में उन्होंने बताया िक सराफा दुकान नंबर 2 में वह अपने नाती के भविष्य के लिए 25 किलो 800 ग्राम चांदी,12 लाख रुपए , 570 ग्राम व 640 मिलीग्राम सोना जिसकी कीमत 18 लाख 63 हजार 504 ज्वेलर्स की सफेद थैली में रखे थे। सोने के जेवरात हरे रंग की कैरीबैग में अलमारी में रखे थे, वह गायब हो गए थे। पुलिस ने इस बारे में जांच नहीं की। 24 अक्टूबर 2019 को पुलिस परिमंडल 1 के उपायुक्त विवेक मासाड के पास सुरेश ने शिकायत की। करीब चार माह बाद वाड़ी पुलिस ने अश्विनी गुरव पर मामला दर्ज किया है। अब वाड़ी पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

खबरें और भी हैं...