comScore

छिंदवाड़ा: घर में बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या कर जला दिए शव, घटना से क्षेत्र में सनसनी

September 16th, 2019 23:13 IST
छिंदवाड़ा: घर में बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या कर जला दिए शव, घटना से क्षेत्र में सनसनी



डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। शहर के चूना भट्टा क्षेत्र में रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात बुजुर्ग दंपत्ति की निर्मम हत्या कर दी गई। हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने के बाद शव को जला दिया। मकान से धुआं निकलता देख लोगों ने फायर बिग्रेड को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद मौके पर पहुंचे कर्मचारियों ने जब आग बुझाते हुए घर के अंदर पहुंचे, तो आश्चर्य चकित हो गए। कमरे में बुजुर्ग किशोरी लाल का जला हुआ शव पड़ा हुआ था, तो वहीं उनकी पत्नी प्यारी बाई रसोई में अधजली पड़ी हुई थी। पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया है। हत्या का कारण संपत्ति का विवाद बताया जा रहा है।
इस संबंध में पुलिस ने बताया कि मकान के एक कमरे में 80 साल के बुजुर्ग किशोरी लाल पिता कन्हैय्या लाल विश्वकर्मा का शव जल रहा था और मकान के रसोई घर में उनकी पत्नी 75 वर्षीय रामप्यारी बाई अधजली अवस्था में पड़ी थी। घटना की सूचना पर तत्काल कुंडीपुरा पुलिस पहुंच गई। इसके साथ ही  सीएसपी अशोक तिवारी और टीआई कुंडीपुरा राजेश सिंह चौहान घटना स्थल पहुंचे, तो पता चला कि दंपत्ति की किसी ने हत्या की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए तड़के(सुबह) 4 बजे पुलिस कप्तान भी घटना स्थल पहुंच गए और अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए हैं।  
महिला का पहले गला रेत गया फिर जला दिया-
बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या के मामले में मकान में किसी तरह के संघर्ष के निशान नहीं मिले हैं, लेकिन बुजुर्ग महिला का शव रसोई घर में पड़ा मिला। महिला का गले पर किसी धारदार हथियार से हमला किया गया। महिला के सिर में भी चोट के निशान पाए गए हैं, हालांकि महिला के पैर में चप्पल पहनी हुई मिली है। महिला का शव अधजला पाया गया, जबकि बुजुर्ग का शव पूरी तरह से जल चुका था।
3000 हजार रुपए में गुजारा कर रहे थे दंपत्ति-
बुजुर्ग दंपत्ति के तीन बेटे और एक बेटी हैं, लेकिन सभी अलग-अलग रहते थे। दंपत्ति अपने मकान में अकेले रहते थे। नके भरण पोषण के लिए बेटी हर माह 1500 रुपए और तीनों बेटे 500-500 रुपए देते थे। इन्ही तीन हजार रुपयों से दंपत्ति का भरण पोषण हो रहा था।
परिजनों पर शक की सुई-
दंपत्ति के मकान में एक बोर्ड लगा हुआ है, जिसमें मकान बेचना है ऐसी सूचना लिखी है। सूत्रों की माने, तो इस मकान का सौदा किसी से 12 लाख रुपए में चल भी रहा था, लेकिन सौदा दंपत्ति का कौन परिजन कर रहा था यह सामने नहीं आया है। यही बोर्ड दंपत्ति की हत्या में संदेहास्पद बना हुआ है। संदेह के घेरे में दंपत्ति के परिजन भी हैं।
इनका कहना है-
बुजुर्ग दंपत्ति की मौत प्रथम दृष्टया हत्या ही प्रतीत हो रही है, पीएम रिपोर्ट में और मौत के कारणों का पता चल सकेगा। इस मामले में कुछ लोग संदेह के घेरे में हैं जिनकी जांच की जा रही है।
मनोज राय, पुलिस अधीक्षक 

कमेंट करें
PwZkU