• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Chhindwara: Very serious malnourished children will have to be brought to normal category by 31 March 2021 - Principal Secretary Ashok Shah

दैनिक भास्कर हिंदी: छिन्दवाड़ा: अति गंभीर कुपोषित बच्चों को 31 मार्च 2021 तक सामान्य श्रेणी में लाना होगा - प्रमुख सचिव अशोक शाह

December 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, छिन्दवाड़ा। छिन्दवाड़ा प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग श्री अशोक शाह ने कहा कि पोषण माह में चिन्हांकित किये गए अति गंभीर कुपोषित बच्चों को 31 मार्च 2021 तक सामान्य श्रेणी में लाना होगा। उन्होंने इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग को विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। प्रमुख सचिव गुरूवार को डिण्डोरी में विभागीय कार्यां की समीक्षा कर रहे थे। प्रमुख सचिव श्री शाह ने मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए संस्थागत प्रसव को बढावा देने के निर्देश दिए। जिससे शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ गर्भवती महिलाओं को मिल सके। उन्होंने कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों में दर्ज अति गंभीर कुपोषित बच्चों का नियमित रूप से उपचार और दूध, सत्तू एवं पोषण आहार दिया जाए, जिससे उनके स्वास्थ्य में सुधार हो सके। अतिगंभीर कुपोषित बच्चों का उपचार करने के लिए उन्हें पोषण पुनर्वास केन्द्रों में भर्ती किया जाए। प्रमुख सचिव ने जिले के आंगनबाडी केन्द्रों की भी समीक्षा की। उन्होंने पेयजल विहीन आंगनबाडी केन्द्रों को नलजल योजना से जोडने के निर्देश दिए। शौचालय विहीन आंगनबाडी केन्द्रो में शौचालयों का निर्माण करने को कहा। अपूर्ण एवं अप्रारंभ आंगनबाडी केन्द्रों के निर्माण कार्यां को पूर्ण करने के निर्देश दिए तथा सभी परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षक रोजाना अपने-अपने क्षेत्रों का भ्रमण कर रिपोर्ट संपर्क एप पर अपलोड करने के निर्देश दिए। श्री शाह ने कहा कि जिला कार्यक्रम अधिकारी रोजाना परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट की समीक्षा करेंगे। पोषण आहार कार्यक्रम के अंतर्गत टेक होम राशन आंगनबाडी कार्यकर्ता के द्वारा घर-घर पहुंचाया जायेगा। उन्होंने पोषण माह के अंतर्गत वजन लिये गए बच्चों की विस्तार से समीक्षा की। प्रमुख सचिव श्री अशोक शाह ने जिले में कोदो-कुटकी का उत्पादन का क्षेत्रफल बढाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में कोदो-कुटकी फसल का उत्पादन बढाने के लिए किसानों को उन्नत किस्म के बीज उपलब्ध कराया जाए। कोदो-कुटकी का उत्पादन बढाने से जिले में संचालित स्व-सहायता समूह की प्रसंस्करण ईकाईयों को पर्याप्त कोदो-कुटकी मिलेगी, इससे कोदो-कुटकी से बनी सामाग्री तैयार होगी। श्री शाह ने तेजस्विनी संघ को अपनी योजनाओं का लाभ बालाघाट, मण्डला, सिवनी, अनूपपुर, उमरिया, शहडोल में उपलब्ध कराने तथा प्रसंस्करण ईकाईयों में सुधार करते हुए इसका अनुपात बढाने के निर्देश दिए। उन्होंने जिले में स्वास्थ्य विभाग को पोषण आहार में सुधार तथा शत-प्रतिशत टीकाकरण व एनीमिया में कमी लाने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। श्री अशोक शाह ने कहा कि तेजस्विनी महिला संघ द्वारा आंगनबाडी केन्द्रो में सप्लाई की गई सामाग्री का शत-प्रतिशत भुगतान किया जाए। उन्होंने तेजस्विनी महिला संघ में प्राप्त लाभांश को सभी स्व-सहायता समूह के सदस्यों में वितरित करने के निर्देश भी दिए।