दैनिक भास्कर हिंदी: गोलीमार कर चीतल का शिकार- छह शिकारियों को भेजा जेल

April 11th, 2018

डिजिटल डेस्क तामिया/छिंदवाड़ा।मांस के लिए चीतल का शिकार करने वाले शिकारियों को गिरफ्तार कर जेल भेेजा गया है । आरोपियों से भरमार बंदूक सहित वन्यप्राणी के अवशेष भी बरामद कर लिए गए हैं ।  पश्चिम वनमंडल के देलाखारी वनपरिक्षेत्र की बम्हनी बीट में चीतल के छह शिकारियों को फारेस्ट की टीम ने गिरफ्तार किया है। मांस का शौक रखने वाले इन शिकारियों को मुखबिर की सूचना पर धरदबोचा गया। बताया जा रहा है कि ग्राम बम्हनी के समीप एक जलस्त्रोत है जहां पानी पीने जंगल से चीतलों का झुंड आता है। बीते तीन दिन पूर्व झुमकू पिता सुकराम ने अपने साथियों के साथ भरमार बंदूक से गोलीमार कर एक चीतल का शिकार किया था। शिकार के बाद सभी ने आपस में चीतल का मांस बांट लिया था। सूचना मिलते ही फारेस्ट की टीम ने डोंगरगांव निवासी झुमकू पिता सुकराम, बम्हनी निवासी हीरालाल पिता भोलेशंकर, पुरतला निवासी मनसोक पिता दुकलू, विनोद पिता गोपी, सतीश पिता रमेश और भद्दू पिता जगन्नाथ को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। आरोपियों के खिलाफ वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत मामला कायम किया गया है।
भरमार, सींग और खाल जब्त-
डीएफओ डॉ. किरण बिसेन ने बताया कि आरोपियों के पास से चीतल के दो सींग, खाल के अलावा भरमार बंदूक, छह छर्रे, 9 लोहे की रॉड छर्रे, कुल्हाड़ी समेत अन्य सामग्री जब्त की गई है। डिप्टी रेंजर एमएल पांडे के मुताबिक झुमकू ने चीतल पर गोली दागी थी।
मांस खाने का शौक पड़ा भारी-
बताया जा रहा है कि सभी आरोपियों को चीतल का मांस खाने का शौक है। इस वजह से उन्होंने चीतल का शिकार किया था। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पानी पीने आई चीतल को उन्होंने घेरकर गांव की ओर खदेड़ा था। जिसका झुमकू ने शिकार किया। आरोपियों से भरमार बंदूक सहित वन्यप्राणी के अवशेष भी बरामद कर लिए गए हैं ।  पश्चिम वनमंडल के देलाखारी वनपरिक्षेत्र की बम्हनी बीट में चीतल के छह शिकारियों को फारेस्ट की टीम ने गिरफ्तार किया है।