comScore

कोयला चुराने वाले गैंग का पर्दाफाश, जानिए - नागपुर में कब कहां क्या हुआ

कोयला चुराने वाले गैंग का पर्दाफाश, जानिए - नागपुर में कब कहां क्या हुआ

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सावनेर-खापरखेड़ा रेल खंड में ट्रेन से कोयला चोरी की शिकायत  लगातार आरपीएफ को मिल रही थी। चोरी के दौरान कोयला रेल पटरी एवं गिट्टी में मिल जाने से क्षेत्र में प्रदूषण एवं गंदगी फैल रही थी, जिससे रेल दुर्घटना भी होने की संभावना बढ़ती जा रही थी। शनिवार को आरपीएफ ने कोयला चोरों पर दबिश देने की तैयारी कर और दबिश देकर कोयला चुराने वाली गैंग के सात सदस्यों को रंगेहाथ धरदबोचा। आरपीएफ की टास्क  फोर्स की टीम के उप-निरीक्षक मोहम्मद मुगीसुद्दीन एवं बल सदस्यों ने मोतीबाग आरपीएफ प्रभारी अधिकारी गणेश गरकल के साथ की। पकड़ी गई इस गैंग के गिरफ्तार आरोपियों में आरोपी सचिन वल्द प्रमोद नारनवरे (19), किशोर वल्द शंकर पांडेकर (36), सुनील वल्द दुर्योधन कुंभरे (30), रेडविन वल्द एडविन दास (21), सभी निवासी मिलन चौक ओम नगर वार्ड नं-2 चनकापुर, खापरखेड़ा, सुभाष वल्द विनोद सूर्यवंशी (20), सूरज वल्द श्याम लाल रविदास (34), शेर सिंह वल्द चरण सिंह ठाकुर (19), सभी निवासी वार्ड नं-6 हनुमान मंदिर, खापरखेड़ा का समावेश है। 
पूछताछ में इन आरोपियों ने पाॅवर प्लांट को जाने वाली मालगाड़ी से कोयला चुराने और चोरी का माल रखने की जगह बताई। जिसके आधार पर लगभग 500 किलो एवं रेल संपत्ति, कुल 31,500 रुपए की संपत्ति बरामद की। सभी गिरफ्तार आरोपियों के विरुद्ध धारा 3(अ) रेल संपत्ति अवैध कब्जा अधिनियम की धारा 145 एवं 154 रेल संशोधन अधिनियम खंड के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच उषा बिसेन, उप-निरीक्षक द्वारा की जा रही है। कार्रवाई मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडे और सहायक सुरक्षा आयुक्त ए.के. स्वामी के मार्गदर्शन में   गठित टीम  आरक्षक प्रकाश राय सिडाम, प्रधान आरक्षक खुर्शीद अंसारी, आरक्षक ईशांत दीक्षित, आरक्षक गुलशन कोचे  के साथ की।

मकान के विवाद में दंपति पर हमला

हिंगना थानांतर्गत धामना लिंगा गांव में दो परिवार के सात लोगों ने दंपति पर हमला बोल दिया। उनकी पिटाई कर जाति संबंधित गाली-गलौज कर अपमानित िकया गया है। घटित प्रकरण से तनाव का माहौल भी बना रहा। इस बीच शनिवार को आरोपी परिवार की तीन महिला सहित सात लोगों के खिलाफ एट्राेसिटी एक्ट व अन्य धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। धामना लिंगा गांव निवासी विनोद अंबादे (40) निजी कंपनी में कार्यरत है, जबकि आरोपी विनोद के ही पड़ोसी राजू तुलनकर, शोभा तुलनकर, नयन तुलनकर, रानी तुलनकर, बेबी खाड़े, प्रफुल खाड़े, वैभव तुरनकर, रवि तुरनकर और विजय तुरनकर है। आरोपी तुरनकर परिवार के नागपुर निवासी एक अधिवक्ता के खेत में काम करते हैं, लेकिन विनाद के पड़ोस में रहते थे। कुछ दिनों पहले विनोद ने देवेंद्र तुरनकर नामक व्यक्ति का मकान खरीदा, जो विनोद और राजू के मकान से लगकर है। देवेंद्र, राजू का चचेरा भाई है, लेकिन दोनों में बनती नहीं है। विनोद ने मकान खरीदा है इसकी भनक तुरनकर परिवार को लगने पर विनोद और उसकी पत्नी पर हमला भी बोल दिया, दोनों की पिटाई की गई। जाति संबंधित गाली-गलौज कर उन्हें अपमानित किया गया। शनिवार को विनोद और उसकी पत्नी थाने में शिकायत की। पुलिस ने एट्राेसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

टैंकर चालक को लूटने वाला आरोपी गिरफ्तार

पानी टैंकर चालक की जेब से जबरन मोबाइल फोन छीनकर फरार हुए आरोपी को पुलिस ने घटना के 24 घंटे के अंदर धर-दबोचा। आरोपी का नाम सूरज दशरथ मेश्राम (24) जीजामाता नगर खरबी रोड निवासी है। पता चला है कि सूरज भी पहले वाठोड़ा क्षेत्र में पानी का टैंकर चलाता था। उसे नशे की लत होने के कारण टैंकर चलाने की नौकरी से हाथ धोना पड़ा था। वह वाठोड़ा परिसर में पानी की टंकी के पास अक्सर आना-जाना करता था। पुलिस के अनुसार आडका टेमसना कामठी निवासी विलास रामचंद्र दुबे पानी का टैंकर चालक है। गत दिनों वह पानी का टैंकर वाठोड़ा क्षेत्र में  टंकी पर पानी भरने गया था। वह टैंकर से नीचे उतर रहा था, तभी सूरज मेश्राम उसका मोबाइल छीन कर दोपहिया वाहन से फरार हो गया। टैंकर चालक विलास दुबे ने घटना की शिकायत वाठोड़ा थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने सूरज को गिरफ्तार कर मोबाइल फोन और दुपहिया को जब्त किया है। आरोपी को न्यायालय में पेश कर 3 दिन की पुलिस रिमांड लिया गया है। वाठोड़ा थाना शुरू होने के बाद दर्ज कुछ मामले में यह पहला मामला है, जब पुलिस ने इसे 24 घंटे में सुलझा लिया है। वाठोड़ा थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बापू ढेरे के नेतृत्व में सहायक पुलिस निरीक्षक नीलेश गोसावी, हवलदार राधेश्याम, सिपाही आशीष, मंगेश और देवकुमार ने कार्रवाई की। 
 
दुकान से माल सहित नकदी चोरी

हिंगना रोड स्थित ट्रैक्टर कंपनी चाैक में व्यापारी के घर के सामने ही स्थित दुकान में चोरी हो गई, लेकिन व्यापारी को इसकी भनक तक नहीं लगी। किसी ने नकदी सहित लाखों रुपए के माल पर हाथ साफ कर दिया। प्रकरण से परिसर में हड़कंप मचा रहा। इस बीच शनिवार को एमआईडीसी थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। अभी तक आरोपियों का सुराग नहीं मिला है। ट्रैक्टर कंपनी चौक निवासी व्यापारी पवन वाघाडे है। 

अवैध रूप से मवेशी ले जा रहे तीन आरोपी गिरफ्तार

मौदा में अवैध रूप से मवेशी ले जा रहे तीन आरोपियों को मौदा पुलिस स्टेशन की हद में अपराध शाखा पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पेट्रोलिंग के दौरान अपराध शाखा पुलिस को अवैध रूप से मवेशी ले जाने की गुप्त सूचना मिली थी। जांच के दौरान माथनी टोल नाका के पास गाड़ी क्रमांक एमएच-20, बीटी-3918 को रोकने का इशारा करने पर चालक विपरीत दिशा से वाहन लेकर फरार हो गया। संदेह के आधार पर पीछा कर वाहन रोक कर तलाशी लेने पर करीब 32 गौवंश निर्दयतापूर्वक बंधे हुए थे। मामले में लिप्त आरोपियों का नाम अनिल शामराव राेहनकर (49), राकेश श्रीधर दिघारे (27) व क्रिष्णा अशाेक देशमुख (22)तीनों अडयाल, जिला- भंडारा निवासी बताए जा रहे है। वाहन सहित कुल 23 लाख का माल जब्त किया गया।  कार्रवाई को अपराध शाखा पुलिस निरीक्षक अनिल जिट्टावार के नेतृत्व में पुलिस उपनिरीक्षक सचिन मते, सूरज परमार, दुबे, प्रणय बनाफर, वीरेंद्र नरड़, साहेबराव बहाले आदि ने अंजाम दिया।

दहेज के लिए प्रताड़ित करने वाले 4 पर मामला दर्ज

खापरखेड़ा में दहेज के लिए शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने वाले पति, देवर व सास-ससुर पर मामला दर्ज किया गया। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सद्गुरुनगर, भांडेवाड़ी, नागपुर निवासी फरियादी कांचन भूषण टेकाड़े (25) ने खापरखेड़ा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज में बताया कि, उसका व भूषण का प्रेमविवाह परिवार की मर्जी व रीति-रिवाज से हुआ। शादी के बाद 8 फरवरी से 16 सितंबर के बीच कई बार पति भूषण, जेठ भूपेंद्र, ससुर ईश्वर व सास पार्वताबाई टेकाड़े, सभी जूनी बस्ती, पिपला डाकबंगला निवासी उसे मायके से 10 लाख रुपए लाने की मांग करते हुए शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। जब पीड़िता ने पैसे लाने से इंकार किया तो करीब 4 दिन तक घर में बांधकर गाली-गलौज व मारपीट कर रहे थे। इतना ही नहीं तो जान से मारने की धमकी भी दी।  रोज-रोज की प्रताड़ना से तंग आकर आखिरकार शुक्रवार को पीड़िता ने खापरखेड़ा पुलिस स्टेशन पहुंचकर शिकायत दर्ज की। फरियादी की शिकायत पर सभी आरोपियों के खिलाफ 498 (अ), 343, 323, 504 व 506 के तहत मामला दर्ज किया। आगे की जांच खापरखेड़ा पुलिस कर रही है। 

सावनेर में हत्या के प्रयास का आरोपी पकड़ाया

सावनेर में हत्या के प्रयास में फरार आरोपी को शुक्रवार को ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार झंडा चौक, पहलेपार, सावनेर निवासी अमोल दामोधर कमाले (33) ने पिछले कई दिनों से वांछित था। आरोपी के सावनेर में दिखाई देने की गुप्त सूचना मिलते ही अपराध शाखा पुलिस ने जाल बिछाकर अमोल को गिरफ्तार कर जेल रवाना किया। पुलिस निरीक्षक  अनिल जिट्टावार के मार्गदर्शन में बाबा केचे, गडेकर, विपीन गायधने राेहन डाखाेरे, अमोल कुथेे आदि ने कार्रवाई में सहयोग किया। 

तीन शातिर चोर पकड़े गए, चोरियों का पर्दाफाश

गिट्टीखदान और बेलतरोड़ी पुलिस ने तीन शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है। एक चोर ऐशोआरम और नशे के लिए वाहन चुराता था, तो दो अन्य चोर बंद मकान का ताला तोड़कर घरों में चोरियां करते थे। पुलिस ने इन चोरों से कई चोरियों का पर्दाफाश किया है। इन चोरों से पुलिस ने करीब 7 लाख 95 हजार का वाहन, सोने-चांदी के आभूषण आदि सामान जब्त किए हैं।

ऐशोआराम और नशे के लिए करता था चोरी

वाहनों की चोरी करने में माहिर एक शातिर वाहन चोर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम आदेश उर्फ आद्या दुर्गादास तिरपुडे (20)  महादुला कोराडी निवासी है। आरोपी ऐशोआराम और नशे की जिंदगी जीने के लिए वाहनों की चोरी करता था। पैसे खत्म होने पर दोबारा वाहन चुराता था। आरोपी से 13 वाहनों सहित करीब 5 लाख 10 हजार रुपए का माल जब्त किया गया है। वाहन चोरी करने के बाद विभिन्न कारणों से पैसे की जरूरत होने की बात कहकर वाहन बेचता था। बातचीत तय होने पर आधे पैसे मांगता था और आधे पैसे दस्तावेज लाकर देने का बाद लेने की बात करता था। आरोपी के झांसे में कई लोग फंस चुके थे। गिट्टीखदान पुलिस के अनुसार राजेश्वर कडू बोरगांव प्रशांत कालोनी गोरेवाड़ा ने गिट्टीखदान थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके घर में दुकान के सामने खड़ी एक्टिवा क्रमांक एमएच 31 डी ई- 2198 चाेरी हो गई। वाहन को आरोपी आदेश तिरपुड़े चुराकर ले गया था। गिट्टीखदान पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि आदेश ने प्रशांत कॉलोनी से उक्त नंबर की एक्टिवा चुराई है। अपराध शाखा पुलिस विभाग की यूनिट-2 के पुलिस निरीक्षक अनिल ताकसांडे और सहयोगियों ने आरोपी को धरदबोचा। आरोपी ने पूछताछ में वाहन चोरी की बात कबूल की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया है। आरोपी किसी भी हैंडल लॉक को झटका मारकर तोड़ने में माहिर है। लॉक तोड़कर वाहन के स्टार्ट कनेक्शन को डायरेक्ट कर वाहन लेकर फरार हो जाता था। इस आरोपी पर कोराडी में 4, गिट्टीखदान में 1, राणाप्रताप नगर में 1, जरीपटका में 1, खापरखेड़ा में 1, जरीपटका में 1, मानकापुर में 3, सदर में 1 और अंबाझरी में 1 वाहन व अन्य चोरी के मामले दर्ज हैं। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में अपराध शाखा पुलिस विभाग की यूनिट 2 ने कार्रवाई की।


 

 

 

कमेंट करें
gIQ5z