comScore

कोरोना जांच लैब शुरू... सिवनी, बैतूल और बालाघाट से आएंगे सेंपल

कोरोना जांच लैब शुरू... सिवनी, बैतूल और बालाघाट से आएंगे सेंपल

 डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। कोरोना संकटकाल में जिले को अब जांचों के लिए जबलपुर आईसीएमआर लैब पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। यहां मेडिकल कॉलेज में आईसीएमआर लैब की शुरूआत हो गई है। जिसमें छिंदवाड़ा सहित आसपास के चार जिलों के सेंपल भी जांच के लिए आएंगे। शुक्रवार को लैब में 194 स्वाव सेंपल जांच के लिए भेजे गए है। यह सभी छिंदवाड़ा जिले के है। सप्ताहभर के भीतर मेडिकल कॉलेज की लैब में सिवनी, बैतूल और बालाघाट के सेंपल भी आने शुरू हो जाएंगे। शुक्रवार को लैब में भेजे गए सेंपलों की सफाई प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। पहले चरण का कार्य पूरा होने के बाद आज से सेंपलों की जांच प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। कॉलेज प्रबंधन द्वारा पूल प्रक्रिया अपनाते हुए जांच की जाएगी, ताकि कम समय में अधिक सेंपलों की जांच की जा सके।
जांच में पांच घंटे का लगता है समय-
कॉलेज प्रबंधन के मुताबिक स्वाव सेंपलों की जांच अलग-अलग चरणों में होती है। पहले चरण में सेंपल की सफाई की जाती है। जिसमें लगभग चार घंटे का समय लगता है। दूसरे चरण में टेस्टिंग होती है। स्वाव सेंपल की जांच की प्रक्रिया पूरी होने में लगभग पांच से छह घंटे का समय लगता है। पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर दोबारा पुष्टि के लिए जांच की जाती है।
भोपाल से मिले निर्देश पर अन्य जिलों से आएंगे सेंपल-
लैब में अभी छिंदवाड़ा जिले के सेंपलों की जांच की जाएगी। भोपाल और स्थानीय प्रशासन से निर्देश के आधार पर तय होगा कि सिवनी, बालाघाट और बैतूल से कितने सेंपल आएंगे। शुक्रवार से लैब में सेंपलों की जांच प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
चौबीस घंटे लैब में होगी जांच-
कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने लैब में चौबीस घंटे कार्य के निर्देश दिए है। लैब में डॉक्टर, टैक्निशियन समेत 40 लोगों का स्टाफ है। चौबीस घंटे सातों दिन काम के लिए तीन चरणों में स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है। ताकि कार्य प्रभावित न हो।
137 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट प्राप्त, 3 अंडरप्रोसेस
- जबलपुर आईसीएमआर लैब से शुक्रवार को 137 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें तीन संदिग्धों की जांच अंडरप्रोसेस है। शेष 134 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सीएस डॉ. श्रीमती पी गोगिया ने बताया कि जिला अस्पताल समेत जिलेभर से 194 सेंपल कलेक्ट कर छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज लैब भेजे गए है। इसके अलावा 50 सेंपल जबलपुर मेडिकल कॉलेज भेजे गए है।
क्या कहते हैं अधिकारी-
- शुक्रवार से लैब शुरू कर दी गई है। जिला अस्पताल से प्राप्त स्वाव सेंपलों की सफाई का कार्य पूरा कर लिया गया है। दूसरे चरण में आज से स्वाव सेंपलों की जांच शुरू कर दी जाएगी।
- डॉ.गिरीश बी रामटेके, डीन, मेडिकल कॉलेज
 

कमेंट करें
EjOA5