comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कोरोना : नागपुर में दो की मौत, छह माह की बच्ची की सुरक्षा के लिए संक्रमित मां कर रही संघर्ष 

कोरोना : नागपुर में दो की मौत, छह माह की बच्ची की सुरक्षा के लिए संक्रमित मां कर रही संघर्ष 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मेयो में भर्ती दो कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। शहर में लगातार चौथे दिन कोरोना मौत दर्ज हुई है। शुक्रवार को हंसापुरी और रेणुका नगरी के मरीजों की मौत हो गई और 12 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें सात की नीरी और पांच सैंपल की जांच मेयो लैब में हुई है। मेयो में पॉजिटिव आए 3 मरीज इंदौरा और दो मरीज कामठी के हैं। नीरी में जांचे गए सभी सैंपल भोईपुरा मनपा के हैं। हंसापुरी का 62 वर्षीय मरीज 5 जुलाई को मेयो के सारी वार्ड में भर्ती किया गया था। हाइपरटेंशन और डायबिटीज के मरीज की मौत की वजह श्वसन तंत्र का विफल होना और कोविड न्यूमोनिया बताया गया है। मनीषनगर स्थित रेणुकानगरी का 49 वर्षीय मरीज 28 जून को मेयो में भर्ती हुआ था। उसे हाइपरटेंशन और डायबिटीज की बीमारी थी। उसकी मौत की वजह हृदयाघात और कोविड न्यूमोनिया बताया गया है।
 
जुलाई में आठ मरीजों की हो चुकी है मौत  

दिनांक      मृतक संख्या        यहां का था मरीज

5 जुलाई     1                      तेलंगखेडी
7 जुलाई     1                      भांडेवाड़ी
8 जुलाई     2                      अमरावती, सिवनी
9 जुलाई     2                      कोंडाली, अमरावती
10 जुलाई    2                     हंसापुरी, रेणुकानगरी
 
24 डिस्चार्ज

शुक्रवार को 24 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। इनमें 20 मेडिकल से और 4 मेयो से डिस्चार्ज हुए हैं।

अमरावती में दो मृत, 14 नए संक्रमित 

अमरावती जिले में दो कोरोना संक्रमितों की मृत्यु के साथ मृतकों का आंकड़ा 30 पर पहुंच गया है। साथ ही 14 नए संक्रमित भी पाए गए हैं जिससे जिले में संक्रमितों की संख्या 795 पर पहुंच चुकी है। इनमें से 536 मरीज स्वस्थ भी हो चुके हैं। नये मरीजों में दो तिवसा तहसील के तथा शेष शहर के विभिन्न इलाकों के बताये जाते हैं।  

चंद्रपुर में विवाह में शामिल 5 समेत 12 पॉजिटिव

चंद्रपुर जिले में विवाह समारोह में शामिल 5 लोगों के साथ शुक्रवार को 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। नए संक्रमितों के साथ संक्रमितों का आंकडा 150 से बढ़कर 162 पर पहुंच गया है। अब तक 80 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। शुक्रवार को  मिले संक्रमितों में चंद्रपुर, भद्रावती, बल्लारपुर के 7 वर्षीय बालक के अलावा 5 लोग वरोरा क्षेत्र के निवासी हैं। इनमें एक ही परिवार के 4 सदस्यों का समावेश है। यह परिवार जालना में आयोजित विवाह समारोह में गए थे। वहां से लौटने के बाद संक्रमित पाए गए। 

भंडारा में छह नए संक्रमित 

भंडारा जिले में शुक्रवार 10 जुलाई को छह नए मरीज मिले हैं, जिसके बाद जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 161 पर पहुंच गया है। संक्रमितों में भंडारा के अलावा तुमसर, पवनी और लाखनी के मरीजों का समावेश है। अब तक जिले के 80 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 

गड़चिरोली जिले में अधिकारी समेत 16 पॉजिटिव 

गड़चिरोली जिले में मुलचेरा नगर पंचायत के वरिष्ठ अधिकारी समेत 16 नए संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद जिले में संक्रमितों की संख्या 155 पर पहुंच गई है। 16  संक्रमितों में कुरखेड़ा तहसील मुख्यालय में क्वारेंटाइन 8 मजदूर एवं कर्मियों के साथ मुलचेरा के अधिकारी तथा अन्य 8 लोगों का समावेश है। जिले में अब तक 65 लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं। 


छह माह की बच्ची की सुरक्षा के लिए संक्रमित मां कर रही संघर्ष 

कोविड अस्पताल में दाखिल संक्रमित महिला की छह माह की बेटी को स्वस्थ होते हुए भी अस्पताल में रखा गया है जिसकी सुरक्षा को लेकर परेशान महिला ने सोशल मीडिया पर वीडिओ वायरल कर अपनी व्यथा रखी है। यही नहीं उसने वीडिओ के माध्यम से अस्पताल में व्याप्त गंदगी और अव्यवस्था की भी पोल खोलकर रख दी है। कहीं बेटी संक्रमित न हो जाए इस आशंका से ग्रस्त नांदगांवपेठ निवासी इस महिला ने उसे और उसकी बेटी को स्वतंत्र वार्ड में रखने की मांग की लेकिन उसकी मांग को खारिज कर दिया गया। फिलहाल 30 संक्रमित मरीजों के बीच उसकी बेटी को रखा गया है। इस बात से परेशान होकर महिला ने सोशल मीडिया के जरिए प्रशासन तक अपनी बात पहुंचाने का प्रयास किया है। 

यवतमाल में 18 नए पॉजिटिव 

यवतमाल जिले में शुक्रवार को कोरोना के 18 नए मामले सामने आए। अब यहां कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 397 हो गई है। जिले में कोरोना से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। 

गोंदिया में मिले 7 और मरीज 

गोंदिया जिले में विदेश (कतार) से गोंदिया लौटे हुए 3 और जिले के अन्य 4 समेत कुल 7 व्यक्तियों की रिपोर्ट 10 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाई गई। यहां अब तक कुल 202 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। 

वर्धा में मिले चार पॉजिटिव 

वर्धा जिले में शुक्रवार को कोरोना के और चार मरीज पाए गए हैं। कुछ दिन पूर्व शहर से सटे पिपरी मेघे ग्राम पंचायत के इतवारा परिसर में एक विवाह हुआ था जिसमें शामिल लोग संक्रमण का शिकार हुए हैं।  दूल्हा की रिपोर्ट पहले ही पॉजिटिव आ चुकी थी। उसका सेवाग्राम के कस्तूरबा अस्पताल में उपचार चल रहा है। नये संक्रमितों में दूल्हे की मां, पत्नी और दो अन्य रिश्तेदारों का समावेश है।  


 

कमेंट करें
7VPln
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।