comScore

जमीनी विवाद पर चचेरे भाई ने सुपारी देकर कराई थी हत्या 

जमीनी विवाद पर चचेरे भाई ने सुपारी देकर कराई थी हत्या 


डिजिटल डेस्क चौरई/ छिंदवाड़ा। चौरई के ग्राम सिरेगांव में युवक की हत्या का खुलासा कर पुलिस ने हत्या करने वाले आरोपी और हत्या का षडय़ंत्र रचने वाले मृतक के चाचा और चचेरे भाई को गिरफ्तार किया है। जितेश की हत्या के पीछे मामूली जमीनी विवाद था। खेत की मेढ़ को लेकर अक्सर जितेश और उसके चाचा के परिवार के बीच अक्सर विवाद होता था। यही विवाद युवक की हत्या का कारण बन गया।  
टीआई मुकेश द्विवेदी ने बताया कि सिरेगांव के जितेश पिता भोजे वर्मा (26) का शव सिरेगांव से लुंगसी मार्ग पर एक नाले में 8 जनवरी को मिला था। जितेश के सिर पर धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्या की गई थी। पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। प्राथमिक जांच में सामने आया कि घटना दिनांक से गांव का आकाश मालवीय गायब था। आकाश को तलाश कर उसे पूछताछ के लिए थाने लाया गया। पूछताछ में सामने आया कि आकाश को मृतक जितेश के चचेरे भाई दीपक उर्फ अर्जुन पिता रामचरण वर्मा ने 1 लाख 50 हजार रुपए में जितेश की हत्या की सुपारी दी थी। इस हत्या के षडय़ंत्र में मृतक का चाचा रामचरण वर्मा भी शामिल था। अर्जुन ने हत्या के लिए एडवांस में दस हजार रुपए आकाश को दिए थे। पुलिस ने आकाश मालवीय (21), रामचरण वर्मा (43) और अर्जुन वर्मा (19)को गिरफ्तार कर लिया है। हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम में एएसआई राजकुमार सनोडिया, सतीश शर्मा, आरक्षक युवराज रघुवंशी, राजेंद्र बघेल, नितिन सिंह शामिल थे।
मेढ़ को लेकर अक्सर होता था विवाद-
पुलिस ने बताया कि भोजे वर्मा और उसके छोटे भाई रामचरण वर्मा का खेत आसपास है। दोनों परिवारों में खेत की मेढ़ को लेकर अक्सर विवाद हुआ करता था। इसी विवाद के चलते रामचरण और उसके बेटे दीपक उर्फ अर्जुन ने हत्या का षडय़ंत्र रच डाला।
शराब पिलाकर की हत्या-
पुलिस के मुताबिक योजना बनाकर आकाश मालवीय 7 जनवरी को जितेश वर्मा को अपने साथ चौरई ले गया। जितेश को शराब पिलाई और उसकी बाइक से वापस घर लौटते वक्त डोगावानी नाले के किनारे ले गया। नाले के समीप पहले से छिपाए बका से जितेश पर हमला कर हत्या कर दी। 
 

कमेंट करें
zPBN8