दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र स्थापना दिवस : कोविड-19 से निजात दिलाना सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती - कोश्यारी

May 1st, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती कोरोना वायरस महामारी से प्रदेश को निजात दिलाना और उसकी आर्थिक वृद्धि दर सुधारना है। महाराष्ट्र के 60वें स्थापना दिवस पर टेलीविजन पर प्रसारित अपने संबोधन में कोश्यारी ने कहा कि सरकार इन दोनों मुद्दों पर यथासंभव कोशिश कर रही है। मराठी में दिये अपने भाषण में राज्यपाल ने लोगों से एक - दूसरे से दूरी बनाकर रहने, लॉकडाउन के नियमों एवं सभी सुरक्षा एहतियातों का पालन करने की अपील की। उन्होंने राज्य को मजबूत एवं समृद्ध बनाने का लक्ष्य हासिल करने तथा यथाशीघ्र उसे कोरोना वायरस महामारी से निजात दिलाने के लिए नागरिकों का सहयोग मांगा। उन्होंने संयुक्त महाराष्ट्र आंदोलन के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। राज्यपाल ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र विभिन्न प्रकार की लड़ाइयों की पृष्ठभूमि में अपने अस्तित्व के 61 वें वर्ष में कदम रख रहा है। राज्य दृढ़ संकल्प के साथ इस लड़ाई को लड़ रहा है। राज्य में सभी विषम परिस्थितियों से लड़ने और उन पर विजय पाने की परंपरा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘स्थापना दिवस का जश्न पूरे राज्य में हर्षोल्लास से मनाया जाना चाहिए था। सरकार ने इस मौके पर कई कार्यक्रमों की योजना बनायी थी।’’ उन्होंने कहा कि कई सरकारी एवं अर्द्धसरकारी कर्मी, स्वास्थ्यकर्मी और पुलिस कर्मी कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं । उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं। सरकार इस वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यथासंभव कोशिश कर रही है।’’ कोश्यारी ने लोगों को लॉकडाउन के कारण उत्पन्न मुश्किलों से राहत प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा उठाये गये कदमों एवं ग्रीन जोनों में उद्योगों को दी गयी इजाजत का जिक्र भी किया । उन्होंने कहा,‘‘ आर्थिक गतिविधि का चक्र चलता रहे, इसके लिए यह जरूरी है।’’

स्थापना दिवस कोरोना वायरस के कारण सादगी से मनाया गया

महाराष्ट्र राज्य का 60वां स्थापना दिवस कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण शुक्रवार को सादे तरीके से मनाया गया। राज्यपाल बी एस कोश्यारी ने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क के बजाय यहां राज भवन में राष्ट्रध्वज फहराया। हर साल यह समारोह शिवाजी पार्क में आयोजित किया जाता है। राज्यपाल ने सुबह राजभवन में तिरंगा फहराया जिसके बाद राष्ट्रगान बजाया गया। इस मौके पर राज भवन के अधिकारी और कर्मी, मुंबई पुलिस के कर्मी तथा राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) के कर्मी मौजूद रहे। इस मौके पर कोई परेड नहीं निकाली गई। मंत्रालय (राज्य सचिवालय) में एक अलग कार्यक्रम में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रध्वज फहराया और छत्रपति शिवाजी महाराज, बी आर अंबेडकर, राजमाता जीजाबाई की तस्वीरों पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर मुंबई के महापौर किशोरी पेडनेकर, राज्य के मुख्य सचिव अजय मेहता और अन्य लोग उपस्थित रहे। ठाकरे उपनगर बांद्रा में अपने आवास ‘मातोश्री’ से खुद कार चलाकर आए और मंत्रालय जाने से पहले हुतात्मा चौक रुके। उन्होंने अलग महाराष्ट्र राज्य के लिए लड़ते हुए अपनी जान न्यौछावर करने वाले संयुक्त महाराष्ट्र समिति के 105 सदस्यों के सम्मान में हुतात्मा चौक पर निर्मित शहीदों के स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की।
 


 

खबरें और भी हैं...