दैनिक भास्कर हिंदी: दलेर मेहंदी ने की नागपुर के इतवारी में खरीदारी, ढाबा में परिवार के साथ किया भोजन

August 20th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोई अपने पसंदीदा पंजाबी गायक दलेर मेहंदी के साथ सेल्फी खिंचवा रहा था, तो कोई उनकी एक झलक पाने को आतुर था। दलेर मेहंदी के फैन्स उनको देशकर खुश हो गए। दलेर मेहंदी छिंदवाड़ा में निजी काम से गए थे। वहां से फ्री होने के बाद वे नागपुर पंहुचे और इतवारी के एक ढाबा में अपने पूरे परिवार के साथ खाना खाया। उसके बाद वे एक ज्वेलर्स की दुकान में खरीदारी करने पहुंचे। दलेर मेहंदी को इतवारी बाजार में घूमते देख उनके फैन्स बड़ी संख्या में इकट्‌ठा हो गए थे।

'गोल्डन हिट्स ऑफ बॉलीवुड' में झूमे श्रोता 

लक्ष्मी नगर स्थित साइंटिफिक हॉल में वी फाइव एंटरटेनमेंट द्वारा 'गोल्डन हिट्स ऑफ बॉलीवुड'  कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रस्तुत गीतों ने श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम की संकल्पना अनिल पिल्ले व नितीन झाडे की थी। संगीत संयोजन मंगेश पटले ने किया। गायक कलाकार योगेश आसरे, शकील कुरैशी, विनोद डोंगरे, संजीव जगताप, शायली उरकुडे, मृण्मयी जगताप, संगीता जगताप, शुष्मिता सरकार, अंकिता टकले ने प्रस्तुतियां दीं। कार्यक्रम का शुभारंभ "तुम भी चलो हम भी चलें' गीत से की गई। इसके उपरांत "मोरनी बागा मा बोले, ये है मुंबई मेरी जान, मेरा चांद मुझे आया है नजर, निगाहें मिलाने को जी चाहता है, ओ मेरी महबूबा, कई बार यूं ही देखा है, क्यों नई लग रही है, तू इस तरह से मेरी, फिर वही रात है, दिल है छोटा सा, वादा रहा सनम' आदि गीत प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम का संचालन नासिर खान ने किया। 

सेंट्रल जेल में गूंजे देशभक्ति के गीत

‘कर चले हम फिदा...’ संगीतमय कार्यक्रम का आयोजन मध्यवर्ती कारागृह में किया गया। इस दौरान 'संदेसे आते हैं हमें तड़पाते है'.. गीत के शब्दों ने कारागृह के बंदियों की आंखें नम कर दी। उन्हें अपने परिवार के सदस्यों की याद आने लगी। हार्मोनिक एंटरटेनमेंट प्रस्तुत कार्यक्रम की संकल्पना भास्कर वाघुले की थी। निर्मिती राजू चोपड़े ने की। कार्यक्रम में मुख्य रूप से वसंत वानखेडे, कमलाकर मिराशे व कैलाश तानकर उपस्थित थे। अतिथि गायक श्रीकांत रोडे तथा डॉ. ममता कुलकर्णी ने संचालन किया। सहसंयोजन सुमित्रा ठाकरे ने किया। 

बना देशभक्ति का माहौल

गायक कलाकार विजय ढवले, सी. वाय. रायपुरे, शिरिष सूर्यवंशी, आशा चौधरी, ललिता कुमार, कल्पना भादंक्कर, जया चिमुरकर, हरीश कश्यप, संजीव जगताप, डॉ. पंकज गजभिये, विजय लिमजे व शंकर रामटेके ने गीतों की प्रस्तुति दी। विजय लिमजे ने "कर चले हम फिदा देशभक्ति पर आधारित गीत से कार्यक्रम का शुभारंभ कर देशभक्ति का माहौल निर्माण किया। इसके उपरांत ‘ये जमीं गा रही है, तेरा मेरा प्यार अमर, ओ जालिमा, तुझे जीवन की डोर से, फूलों का तारों का, फूल तुम्हे भेजा है, लेकर हम दिवाना दिल, येऊ कशी कशी मी नांदायली, जय जय शिव शंकर' गीतों की बहार से हुई। कार्यक्रम का समापन "जाने कहा गए वो दिन' गीत से किया गया। 
 

खबरें और भी हैं...