comScore

दरिंदे ने तीन साल की बच्ची का रेप कर हत्या की फिर शव डेम में फेंक दिया था -दो गिरफ्तार

दरिंदे ने तीन साल की बच्ची का रेप कर हत्या की फिर शव डेम में फेंक दिया था -दो गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। अमरवाड़ा के ग्राम जमुनिया से अपहृत तीन साल की मासूम दरिंदगी का शिकार हुई है। आरोपी ने अपहरण के बाद बच्ची से दुष्कर्म किया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने अपने इस कुकृत्य को छुपाने शव को बोरी में बांधकर माचागोरा डेम के बैक वॉटर में फेंक दिया था। इस जघन्यतम हत्याकांड का खुलासा कर पुलिस ने आरोपी और उसके सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस ने बताया कि 17 जुलाई की शाम अपने घर के बाहर खेल रही तीन साल की मासूम को आरोपी रितेश उर्फ रोशन पिता उदे ङ्क्षसह धुर्वे (22) दस रुपए दिखाकर अपने घर ले गया। यहां बच्ची से दुराचार के बाद आरोपी ने उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने साथी धनराज पिता महेश उईके (21) के साथ बच्ची का शव बोरी में भरा और बाइक से छोटा महादेव माचागोरा डेम ले गया। यहां बैक वॉटर में शव से भरी प्लास्टिक की बोरी फेंक दी थी। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने सोमवार को प्लास्टिक की बोरी में भरा शव डेम के पानी से बरामद किया है। पुलिस ने आरोपी रितेश उर्फ रोशन धुर्वे और धनराज उईके के खिलाफ धारा 363, 366 (क), 302, 201, 376, 376 (क) (ख) और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।
माता-पिता सतर्क रहें, संस्थाएं जागरुकता लाएं-
जमुनिया की घटना क्रूरतम अपराध है और मानसिक विकृति का परिणाम है। ऐसे में माता-पिता को अपने बच्चों के प्रति ज्यादा सतर्क होने की जरुरत है। आसपड़ोस के लोग भी ऐसे अपराधों को रोकने में मदद करें। जरा सा भी संदेह होने पर विरोध करें और पुलिस को सूचना दें। साथ ही ऐसी घटनाओं को रोकने व लोगों को जागरुक करने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग और चाइल्ड हेल्प लाइन को गांव-गांव तक जागरुकता अभियान चलाने की जरुरत है।
- आरजू विश्वकर्मा, अध्यक्ष, बाल कल्याण समिति
सख्त सजा दिलाने जल्द पेश करेंगे चालान-
इस अपराध को जघन्य अपराधों की श्रेणी में रखा गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है। साक्ष्य भी जुटा लिए गए है। आरोपियों को सख्त सजा दिलाने जल्द चालान पेश किया जाएगा। वहीं न्यायालय से अनुरोध किया जाएगा कि प्रकरण को विशेष प्राथमिकता देकर सुनवाई की जाए।
- विवेक अग्रवाल, एसपी
सजग रहे, ऐसे अपराधों की पुनरावृत्ति न हो-
जमुनिया में मासूम के साथ हुए जघन्य अपराध के दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए। मासूम व उसके परिजनों के साथ गहन संवेदना है। शासन व प्रशासन के साथ सभी को इस तरह के अपराधों की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए विशेष ध्यान देने की जरुरत है।
- नकुल नाथ, सांसद
इस टीम ने किया खुलासा-
अंधे हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम में एएसपी शशांक गर्ग, एसडीओपी डॉ.संतोष डेहरिया, टीआई शशि विश्वकर्मा, एसआई महेन्द्र भगत, लखनलाल अहिरवार, एएसआई रामकुमार ठाकुर, ओपी सनोडिया, प्र्रधान आरक्षक जयकुमार, गोपाल साहू समेत अन्य स्टाफ शामिल है।
 

कमेंट करें
rvFtQ