comScore

किसान पिता-पुत्र से मांगे 25 हजार , रिश्वत लेते ही एसीबी ने दबोचा

किसान पिता-पुत्र से मांगे 25 हजार , रिश्वत लेते ही एसीबी ने दबोचा

डिजिटल डेस्क,नागपुर। थाने के सामने ही चाय की दुकान पर कलमेश्वर थाने के हवलदार रामचंद्र केशवराव ईखार (54) को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी ने रंगे हाथ धर-दबोचा। आरोप है कि हवलदार रामचंद्र ने एक किसान और उसके बेटे के खिलाफ थाने में दर्ज असंज्ञेय अपराध (एनसी) प्रकरण में कोई भी कार्रवाई नहीं करने के लिए 25 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जताने पर हवलदार ने 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। परेशान होकर किसान ने एसीबी कार्यालय में शिकायत की। 

हवलदार ने कहा-10 से कम नहीं करेंगे

पीड़ित ने एसीबी अधीक्षक कार्यालय में बताया कि वह वरोड़ा (पोस्ट-ब्राह्मणी, तहसील-कलमेश्वर) का निवासी है और खेती करता है। कलमेश्वर थाने में उस पर और उसके बेटे के खिलाफ असंज्ञेय अपराध का मामला दर्ज है। जांच के सिलसिले में हवलदार रामचंद्र ने पीड़ित किसान और उसके बेटे को थाने में हाजिर रहने के लिए किसान की पत्नी के पास संदेश भेजा। गत दिनों पिता-पुत्र कलमेश्वर थाने में गए और हवलदार रामचंद्र से मुलाकात की। हवलदार रामचंद्र ने कहा कि वह दोनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेंगे। बदले में 25 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। किसान ने यह रकम बड़ी होने की बात कही तो हवलदार ने 10 हजार रुपए की आखिरी मांग की। इसके बाद किसान ने एसीबी अधीक्षक कार्यालय नागपुर में इसकी शिकायत कर दी। 

एसीबी ने कार्रवाई  की योजना बनाई

एसीबी के अधीक्षक श्रीकांत धिवरे, अपर अधीक्षक राजेश दुधलवार के मार्गदर्शन में एसीबी के दस्ते ने मामले की छानबीन की। हवलदार रामचंद्र द्वारा रिश्वत मांगे जाने की बात स्पष्ट होने पर कार्रवाई की योजना बनाई गई। बुधवार को एसीबी के दस्ते ने रामचंद्र को उसके थाने के सामने एक चाय की दुकान पर पीड़ित किसान से 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते ही धर-दबोचा। रामचंद्र को एसीबी ने सहयोग करने की बात कही। रामचंद्र को समझ में आ गया था कि वह एसीबी के शिकंजे में फंस गया है। एसीबी ने आरोपी रामचंद्र ईखार के खिलाफ कलमेश्वर थाने में रिश्वतखोरी का मामला दर्ज कराया। उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। एसीबी दस्ते के पुलिस निरीक्षक प्रफुल गीते, नायब सिपाही रविकांत डहाट, मंगेश कलंबे, महिला सिपाही करुणा मेश्राम, चालक हवलदार गुलाब मेश्राम व अन्य ने कार्रवाई में सहयोग किया।

कमेंट करें
7fw95