पन्ना: पुरानी पेशन बहाली के लिए 13 मार्च को भोपाल में प्रदर्शन

February 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, पन्ना। पुरानी पेशन बहाली संघ के प्रदेश महासचिव राजेश मिश्रा ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा ०१ जनवरी २००५ से प्रदेश में नियुक्त होने वाले कर्मचारियों के लिये नई पेशन स्कीम लागू की गई है। जिसमें सेवानिवृत्ति पर सेवानिवृत्त कर्मचारी आर्थिक रूप से अपने आपको असुरक्षित पा रहे है और पुरानी पेशन की बहाली को लेकर लगातार आन्दोलरत है परंतु सरकार द्वारा कर्मचारियों की मांग को नजरअंदाज किया जा रहा है। जिस हेतु दिनांक १३ मार्च को प्रदेश की राजधानी भोपाल में विशाल प्रदर्शन आयोजित किया गया हेै। जिसमें प्रदेश के सभी जिलों के साथ पन्ना जिले से बड़ी संख्या में अधिकारी-कर्मचारी शामिल होगें। उन्होनें बताया कि नई पेशन नीति से प्रदेश के कर्मचारी अत्यंत दुखी है नई पेन्शन नीति में जिस तरह की व्यवस्था है उसमें सेवानिवृत्ति पर ८०० से १००० की ही पेशन प्राप्त हो रही है और बुढ़ापे में कर्मचारियों की अजीविका कैसे चल सकती है। उन्होनें बताया कि नई पेन्शन योजना जो कि ०१ जनवरी २००५ से नियुक्त नियमित श्रेणी के कर्मचारियों के लिये लागू की गई है उस योजना के तहत कर्मचारियों को मिलने वाली वेतन का हर माह १० प्रतिशत कटौत्ी कर शासन उसमें १२ प्रतिशत राशि अनुदान जोडक़र पेंशन स्कीम के लिये जमा कर रही है। जमा राशि को शेयर मार्केट में सरकार द्वारा लगा दिया जाता है। सेवानिवृत्ति पर कुल रािश का ६० प्रतिशत कर्मचारियों को नगद दिया जाता है शेष ४० प्रतिशत राशि के ब्याज पर कर्मचारी को पेंशन का भुगतान मिलता है जोकि काफी न्यून बन रही है। राजस्थान सरकार ने भी बजट सत्र के दौरान इस वित्तीय वर्ष में राजस्थान राज्य के कर्मचारियों को पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने की घोषणा की है उसी के अनुरूप मध्य प्रदेश सरकार को भी तत्काल अपने कर्मचारियों को पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल कर देनी चाहिए जिससे उनका आगे का समय सुरक्षित हो सके। यदि मध्यप्रदेश शासन शीघ्र ही पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने संबंधी कोई कदम नहीं उठाती है तो पूरे मध्यप्रदेश के कर्मचारी 13 मार्च को राजधानी भोपाल में एकत्रित होकर धरना प्रदर्शन करेंगे तथा मुख्यमंत्री से पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने की मांग करेंगे।