भगवान की एक झलक पाने के लिए श्रद्धालु भक्तों की मार्ग के दोनों तरफ लगी कतारें : देवों के देव दो साल बाद निकले शाही अंदाज में

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क जबलपुर। देवो के देव महादेव गुप्तेश्वर मंदिर से दो वर्ष के बाद अपने शाही अंदाज में निकले। भगवान भोलेनाथ की शाही सवारी का जगह-जगह स्वागत हुआ। भगवान की एक झलक पाने के लिए श्रद्धालु भक्तों की मार्ग के दोनों तरफ कतारें लगी रहीं। मिलौनीगंज में आरती पूजन के पश्चात शाही सवारी का समापन हुआ।
गुप्तेश्वर महादेव मंदिर से सुबह तकरीबन 11 बजे भगवान भोलेनाथ का पूजन-अर्चन किया गया। स्वामी मुकुंददास महाराज, स्वामी पगलानंद महाराज सहित अन्य संत समाज ने शाही सवारी का शुभारंभ किया। संयोजक पं. द्वारका मिश्रा ने बताया कि 12 वर्ष के इतिहास में कोरोना में प्रतीकात्मक यात्रा ही निकाली जा सकी। इस वर्ष पहले जैसी भव्यता के साथ सवारी निकाली गई। इस दौरान विधायक सुशील तिवारी इंदू, लखन घनघोरिया, विनय सक्सेना, मुनमुन राय, नवनिर्वाचित महापौर जगत बहादुर अन्नू, डॉ. जितेंद्र जामदार, उद्योगपति कैलाश गुप्ता, पिंकी अग्रवाल, पिंटू अग्रवाल, मुन्नू तिवारी, राजेश तिवारी, हर्ष तिवारी, अभिलाष पांडे, योगेंद्र दुबे, बसंत मिश्रा, ऋषभ मिश्रा, उत्कर्ष रावत मौजूद रहे।
ऐसे बढ़ी शाही सवारी-
यात्रा गुप्तेश्वर मंदिर से प्रारंभ होकर शक्ति नगर चौक, कृपाल चौक, हाथीताल, हितकारिणी स्कूल, अनगढ़ महावीर मंदिर, आदि शंकराचार्य चौक, शास्त्री ब्रिज, बस स्टैण्ड, गंजीपुरा, फुहारा होते हुए िमलौनीगंज रामलीला मैदान में समाप्त हुई।
खास-खास-
- शाही सवारी में भगवान की झाँकियाँ आकर्षण का केंद्र रहीं।
- जगह-जगह स्वागत मंच द्वारा भगवान का पूजन-अर्चन किया गया।
- भगवान के दर्शन के लिए सड़कों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी।
- तकरीबन 7 घंटे तक यात्रा विभिन्न मार्गों से होकर समापन स्थल पहुँची।